UPSC परीक्षा में पूछे गए ऐसे सवाल, मच गया बवाल, रद्द हो सकता है पेपर!

नई दिल्ली: केंद्रीय संस्था संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल (CAPF) की भर्ती परीक्षा -2021 (सीएपीएफ) बीते 8 अगस्त 2021 को संपन्न कराई। लेकिन अब इस भर्ती परीक्षा में पूछे गए सवालों को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। आपको बता दें कि सीएपीएफ भर्ती पूछे गए राजनीतिक प्रश्नों को लेकर बवाल मच गया है। सीएपीएफ की भर्ती परीक्षा 2021 के प्रश्न पत्र में कई प्रश्न राजनीतिक हित से जुड़े हुए थे। जिस के बाद अब यूपीएससी पर राजनीतिक हस्तक्षेप हावी होने के लोग दावा कर रहे हैं।

सीएपीएफ भर्ती परीक्षा में पूछे गए प्रश्न
सीएपीएफ की 8 अगस्त को संपन्न हुई भर्ती परीक्षा में प्रश्न एक के विकल्प (सी) में भारत में दलगत राजनीति एक फलता फूलता पारिवारिक व्यवसाय है ये प्रश्न पूछा गया। दूसरा प्रश्न के विकल्प (ए) में राज्य में एक साथ चुनाव होना चाहिए प्रश्न पूछा गया, विकल्प (बी) में किसानों का विरोध राजनीति से प्रेरित है प्रश्न पूछा गया है।

तीसरे प्रश्न के विकल्प (ए) दिल्ली में ऑक्सीजन सिलेंडर का संकट को लेकर प्रश्न पूछा गया, और तीसरे प्रश्न के विकल्प (बी) में पश्चिम बंगाल में मतदान के उल्लंघन को लेकर प्रश्न पूछा गया है। जिसको लेकर राजनीतिक दलों से लेकर परिक्षार्थियों और छात्रों ने सोशल मीडिया पर अपनी-अपनी टिप्पणी दी है।

सोशल मीडिया पर लोगों ने यूपीएससी द्वारा पूछे गए प्रश्न सत्तादल के हित और समर्थकों की पहचान की जाने की बात कही जा रही है। सीएपीएफ भर्ती परीक्षा 2021 में ये प्रश्न के पूछ जाने के बाद सोशल मीडिया पर बवाल मच गया है। सोशल मीडिया पर अपनी-अपनी टिप्पणी दे रहे हैं।

इस पर टीएमसी ने सीएपीएफ भर्ती परीक्षा में पूछे गए सवालों निंदा जनक बताया है। टीएमसी का कहना है कि यूपीएससी एक निष्पक्ष संस्था होना चाहिए। टीएमसी ने आगे कहा कि दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी, पश्चिम बंगाल में मतदान का उल्लघंन, किसानों आंदोलन के प्रश्न को राजनीतिक करने का है। टीएमसी ने कहा हम इसकी निंदा करते हैं। जानकारी के मुताबित टीएमसी ने सीएपीएफ भर्ती परीक्षा की 2021 को रद्द करने की भी मांग की है।

यूपीएसपी के द्वारा सीएपीएफ परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों पर कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला का कहना ने कहा कि बीजेपी ने अपने राजनीतिक एजेंडे के सवाल रखवाए। सुरजेवाला ने बीजेपी पर सीधा आरोप लगाया कि यदि कोई परीक्षार्थी उससे सहमत नहीं हुआ तो आप उसे फेल कर देंगे।

जो बीजेपी और आरएसएस के रंग,विचारधार से जुड़ा हुआ है उसे आप पास कर देंगे। कांग्रेस नेता रणदीर सुरजेवाला ने भी इस सीएपीएफ की परीक्षा को निरस्त करने की मांग की और पेपर सेटर के खिलाफ कार्रवाई की करने की बात कही है। यही नहीं उन्होंने आगे कहा कि संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए।

ट्विटर यूजर ने कहा इतनी महत्वपूर्ण परीक्षा में आप ऐसे प्रश्न क्यों पूछते हैं
एक ट्विटर यूजर लिखते हैं कि मुझे किसानों और ममता बनर्जी के बारे में बहुत सी ऐसी बातें लिखनी हैं। लेकिन जो सीएपीएफ परीक्षा में सवाल पूछे गए है उसके लिए लिए मैं सहमत नहीं हूं। उन्होंने आगे कहा कि इतनी महत्वपूर्ण परीक्षा में आप ऐसे प्रश्न क्यों पूछते हैं ??

इन प्रश्नों के जरिए सत्ताधारी दल अपने समर्थकों की पहचान करना चाहते हैं
सोशल मीडिया पर लोग अपनी टिप्पणी दे रहे हैं। संघ लोक सेवा आयोग पर आरोप लगा रहे हैं। कि संस्था ने सीएपीएफ भर्ती परीक्षा में राजनैतिक सवाल पूछे हैं। जो कि सिर्फ सत्ताधारी दल को खुश करने के लिए सवाल पूछे गए हैं। सोशल मीडिया पर लोगों का कहना है कि इन सवालों के उत्तर के जरिए सत्ताधारी दल समर्थक लोगों की पहचान करना चाहती है।