RBI की आम जनता को चेतावनी, भूलकर भी ना करें ये गलती, वरना कंगाल हो जाएंगे आप

नई दिल्‍ली: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने बैंक ग्राहकों को चेतावनी (RBI Alert) जारी कर धोखाधड़ी करने वालों से सावधान रहने को कहा है. आरबीआई ने कहा कि इस समय केवीईसी अपडेट (KYC Updation) करने के नाम पर जमकर धोखाधड़ी की जा रही है. केंद्रीय बैंक का कहना है कि अगर आपने अपनी निजी व गोपनीय जानकारी (Private Information) हैकर्स को दे दी तो आपका बैंक अकाउंट (Bank Account) कभी भी खाली हो सकता है. आरबीआई ने बताया कि हाल के दिनों में केवाईसी अपडेशन के नाम पर धोखाधड़ी की शिकायतें काफी तेजी से बढ़ी हैं. इसके लिए हैकर्स पहले ग्राहकों को कॉल्‍स, एसएमएस या ई-मेल के जरिये केवाईसी अपडेट करने को कहते हैं. फिर उनकी निजी जानकारी हासिल कर बैंक अकाउंट खाली कर देते हैं.

ग्राहक कौन-सी जानकारी मांगने पर हो जाएं सावधान?
केंद्रीय बैंक ने चेतावनी दी है कि अगर कोई व्‍यक्ति आपसे अकाउंट डिटेल्‍स, लॉगइन आईडी, कार्ड डिटेल्‍स, पिन, ओटीपी (PIN/OTP) जैसी गोपनीय व निजी जानकारी साझा करने को कहता है तो तत्‍काल सावधान हो जाएं. अगर आपने उनके साथ ये जानकारी साझा की तो आपको तगड़ी आर्थिक चपत (Financial Fraud) लग सकती है. वहीं, इस समय धोखाधड़ी करने वाले बैंक ग्राहकों को केवाईसी अपडेशन के लिए गैर-अधिकृत और गैर-सत्‍यापित ऐप्‍स (Unauthorized/Unverified Apps) के लिंक भेजकर भी अपना निशाना बना रहे हैं. लिहाजा, ग्राहकों को ऐसे ऐप्‍स को इनस्‍टॉल करने से भी बचना चाहिए.

ये भी पढ़ें- आम आदमी को बड़ी राहत! खुदरा महंगाई दर घटकर पहुंची 5.30 फीसदी, सब्जियों के दाम 11% से ज्‍यादा गिरे

विज्ञापन

संबंधित खबरें
अगर आपके पास है Bank of India का यह खाता, तो फ्री में मिलेगा ₹1 करोड़ का फायदा
अगर आपके पास है Bank of India का यह खाता, तो फ्री में मिलेगा ₹1 करोड़ का फायदा

RBI ने सभी बैंक के ग्राहकोंं के लिए जारी की बहुत जरूरी सूचना, फटाफट करें चेक
RBI ने सभी बैंक के ग्राहकोंं के लिए जारी की बहुत जरूरी सूचना, फटाफट करें चेक

धोखाधड़ी से बचने के लिए ग्राहक को क्‍या करना चाहिए?
रिजर्व बैंक ने गैर-अधिकृत ऐप्‍स के इस्‍तेमाल से आपका बैंक अकाउंट फ्रीज (Freeze), ब्‍लॉक (Block) या बंद (Closure) किया जा सकता है. ग्राहक जैसे ही अपनी निजी जानकारी हैकर्स के साथ साझा करते हैं, उन्‍हें आपके बैंक अकाउंट का कंप्‍लीट एक्‍सेस (Account Access) मिल जाता है. अब सवाल ये उठता है कि अगर ग्राहकों को इस तरह के ई-मेल, कॉल्‍स या एसएमएस मिलते हैं तो उन्‍हें क्‍या करना चाहिए? वे कैसे पता करें कि ये कम्‍युनिकेशन बैंक की ओर से किया जा रहा है या कोई हैकर ऐसा कर रहा है. इस पर आरबीआई कहता है कि ऐसा कोई भी कम्‍युनिकेशन होने पर ग्राहक को तत्‍काल बैंक या अपनी शाखा (Bank/Branch) से संपर्क करना चाहिए.

केवाईसी अपडेशन से पहले जारी किया जाता है सर्कुलर
आरबीआई के मुताबिक, अगर किसी नियामकीय संस्‍था को केवाईसी अपडेशन करना होता है तो एकसाथ बड़े पैमाने पर किया जाता है. साथ ही प्रक्रिया शुरू करने से पहले सर्कुलर जारी किया जाता है. हाल में 10 मई 2021 को ऐसा सर्कुलर जारी किया गया था. वहीं, 5 मई 2021 को जारी सर्कुलर में स्‍पष्‍ट किया गया है कि केवाईसी अपडेशन की प्रक्रिया के दौरान ग्राहकों के बैंक अकाउंट 31 दिसंबर 2021 तक सक्रिय रहेंगे. इसके अलावा नियामक, प्रवर्तन एजेंसियां या अदालत ही कभी भी केवाईसी अपडेशन का आदेश दे सकती हैं.