NASA ने दिए 4 दिन बाद धरती पर तबाही के संकेत, टकरा सकता है सबसे बड़ा तारा!

नई दिल्ली। काफी समय से ये कहा जा रहा है कि धरती पर ऐस्टरॉइड (Asteroid) की वजह से तबाही आएगी. ऐस्टरॉइड क्षुद्रग्रह होते हैं जो अंतरिक्ष से पृथ्वी का चक्कर लगाते हैं. कहा जाता है कि अभी तक सिर्फ एक बार ही एक क्षुद्रग्रह पृथ्वी से टकराया था. इसकी वजह से दुनिया से डायनासोर खत्म हो गए थे. इसके बाद से कई ऐस्टरॉइड कई बार पृथ्वी के नजदीक से गुजरे (Asteroid To Cross Earth Orbit) लेकिन गनीमत है कि अभी तक कोई अन्य ऐस्टरॉइड टकराया नहीं है. अब 18 जनवरी को अभी तक का सबसे बड़ा ऐस्टरॉइड पृथ्वी के बेहद नजदीक से गुजरेगा. इस ऐस्टरॉइड का नाम 7482 (1994 PC1) रखा गया है.

आज से चार दिन बाद यानी 18 जनवरी को साल का पहला ऐस्टरॉइड पृथ्वी के बेहद नजदीक से गुजरेगा. बताया जा रहा है कि इसकी चौड़ाई करीब 3 हजार पांच सौ इक्यावन फ़ीट है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक़, ये ऐस्टरॉइड पृथ्वी से करीब 1.2 मिलियन मील दूर से गुजरेगा. संख्या के हिसाब से भले ही ये आपको बेहद ज्यादा लग रहा है लेकिन अगर पृथ्वी से इससे होने वाले खतरे का आंकलन किया जाए, तो नासा के मुताबिक़, ये पृथ्वी के लिए खतरा है.

नासा के डार्ट मिशन की शुरुआत कर दी गई है
नासा सेंटर फॉर नियर अर्थ ऑब्जेक्ट स्टडीज ने अपनी वेबसाइट पर लिखा कि ये ऐस्टरॉइड पोटेंशियलि हज़ार्डस ऐस्टरॉइड है. यानी इससे पृथ्वी को खतरा हो सकता है. नासा के एक्सपर्ट्स काफी लंबे समय से इस ऐस्टरॉइड को स्टडी कर रहे थे. अब 18 जनवरी यानी मंगलवार को ये पृथ्वी के बेहद नजदीक से गुजरेगा. अगर पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण ऐस्टरॉइड को खींचेगा तो ये पृथ्वी से टकरा सकता है. और अगर इतना बड़ा ऐस्टरॉइड टकराया तो आ जाएगी तबाही.

पृथ्वी को ऐस्टरॉइड से छुटकारा दिला सकता है नासा का डार्ट मिशन
नासा भविष्य में ऐस्टरॉइड को पृथ्वी से टकराने के लिए रोकने की तकनीक ढूंढने में जुटा है. इसे लेकर नासा ने डार्ट मिशन लांच कर दिया है. बता दें कि बीते हफ्ते ही पृथ्वी के नजदीक से एक अन्य ऐस्टरॉइड गुजरा था. लेकिन अभी जो ऐस्टरॉइड गुजरने वाला है वो अभी तक का सबसे बड़ा ऐस्टरॉइड है.