LIVE: लखीमपुर में हालात तनावपूर्ण, 4 किसानों, 4 भाजपाईयों की मौत, इंटरनेट बंद, 3 कम्पनी पीएसी रवाना

लखीमपुर खीरी। लखीमपुर खीरी में किसानों के ऊपर गाड़ी चलाने का मामला बढ़ता जा रहा है। हिंसा में अभी तक 6 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो गई है। उधर किसान नेता राकेश टिकैत ने किसानों की मौत पर नाराजगी जाहिर की है, वह लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हो गए हैं। मामला बढ़ता देख सीएम योगी आदित्याथ के आदेश पर एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार मौके के लिये रवाना हो गए हैं। बताया जा रहा है कि पीएसी की 3 कम्पनी भी रवाना की गई हैं। वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद अपने आगामी कार्यक्रम रद्द कर गोरखपुर से लखनऊ लौट रहे हैं।

घटना तिकुनिया इलाके की है जहां आरोप है कि कार चालक ने किसानों पर गाड़ी चढ़ा दी जिससे आठ लोगों की मौत हो गई और कई किसान बुरी तरह घायल हो गए. इस घटना से गुस्साए लोगों ने वहां तीन गाड़ियों में आग लगा दी. बताया जा रहा है कि मारे गए लोगों में चार किसान और चार बीजेपी कार्यकर्ता हैं.

लखीमपुर खीरी में हालत गंभीरत होते जा रहे हैं। ऐसे में किसी प्रकार की कोई अफवाह ना फैले, इसलिए इंटरनेट सेवा को ठप किया गया है।

लखीमपुर खीरी बवाल के खिलाफ संयुक्त किसान मोर्चा कल पूरे देश में जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन करेगा। सुबह दस बजे से दोपहर एक बजे तक प्रदर्शन होगा। इस दौरान केंद्रीय गृहराज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी की बर्खास्तगी की मांग की जाएगी। वहीं प्रियंका गांधी, अखिलेश यादव समेत कई विपक्षी नेता कल लखीमपुर खीरी पहुंचेंगे।

लखीमपुर खीरी की घटना के बाद से किसानों ने देश में जगह-जगह धरना प्रदर्शन शुरू कर दिए हैं। पंजाब और अंबाला में किसान सड़कों पर निकल आए हैं। वहीं प्रदर्शनकारी किसानों ने नैनीताल- देहरादून हाई वे जाम कर दिया है।

बताया जा रहा है कि लखीमपुर खीरी में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के गांव के दौरे को देखते हुए डिप्टी सीएम को रिसीव करने आ रहे बीजेपी नेता के बेटे आशीष मिश्रा के खिलाफ विरोध करने के दौरान किसानों की भिड़ंत हो गई। गाड़ी की टक्कर से कुछ किसान घायल हो गए जिसके बाद नाराज किसानों ने सांसद पुत्र व एक अन्य गाड़ी को आग के हवाले कर दिया। उधर, एडीजी जोन लखनऊ एसएन साबत ने बताया कि मौके पर आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह भेजी गईं हैं। आसपास के थानों की फोर्स को भी लगाया गया है।

राकेश टिकैत, चढूनी, लक्खा सिधाना लखीमपुर खीरी रवाना
घटना के बाद किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि लखीमपुर से सैकड़ों किसान कार्यक्रम कर वापस लौट रहे थे, तभी उन पर गाड़ी चढ़ाकर हमला किया गया, इसके बाद फायरिंग की गई। वह भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारी के साथ लखीमपुर के लिए रवाना हो गए हैं। वहीं, पुलिस प्रशासन ने एहतियात के तौर पर सुरक्षा बढ़ा दी है। एसपी सिटी सेकंड ज्ञानेंद्र सिंह और थाना प्रभारी सचिन मलिक फोर्स के साथ किसान नेता से बात करने पहुंचे हैं। जानकारी के मुताबिक , पंजाब से गुरनाम सिंह चढूनी, लक्खा सिधाना 4 दर्जन गाड़ियों के काफिले के साथ लखीमपुर आ रहे हैं।

पूरे मामले पर क्या बोले लखीमपुर के सांसद अजय मिश्र टेनी
पूरे मामले पर निजी न्यूज चैनल से बात करते हुए केन्द्रीय मंत्री और लखीमपुर के सांसद अजय मिश्र टेनी ने बातचीत करते हुए बताया है कि हम कार्यक्रम में बाद में आए हैं,पहले हमारे बेटे उस कार्यक्रम को कराते हैं वो वहीं पर मौजूद थे। वहां डेप्युटी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को आना था, उन्हें रिसीव करने के लिए कोई गाड़ी जा रही थी। वहीं पर रास्ते में कुछ आंदोलनकारियों में कुछ अराजक तत्वों ने उन्होंने गाड़ी पर पत्थर फेंके जिससे ड्राइवर को चोट लगी और एक्सीडेंट हो गया। इस तरह ये घटना हुई है। वहीं ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गई, इसी कारण गाड़ी से पेट्रोल निकल गया, जिसके बाद वहां मौजूद लोगों ने उस गाड़ी को वहां फूंक दिया।

विरोध प्रदर्शन करते तो कोई समस्या नहीं होती लेकिन..-अजय मिश्र टेनी
अजय मिश्र टेनी ने सफाई देते हुए कहा कि हम लोग वहां पर मौजूद नहीं थे, जिस तरह से अराजक तत्वों ने इस तरह की घटना की है। उन्होंने कहा कि अब किसान आंदोलन में बहुत सारे ऐसे लोग भी घुसते जा रहे हैं, जो स्थितियां खराब करना चाहते हैं। सारी चीजें अच्छे से चल रहीं थीं बकायदा अच्छे से कार्यक्रम हो रहा था, किसी तरह की समस्या नहीं थी। अजय मिश्र टेनी ने कहा यदि केवल विरोध प्रदर्शन करते तो कोई समस्या नहीं होती लेकिन, विरोध प्रदर्शन के बजाय इस तरह की हिंसात्मक घटनाएं उन्होंने की है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने इस हिंसा में जान गंवाई है मुझे उनके लिए बहुत दुख है।

’जो हुआ पूरी तरह से गलत..आंदोलन में शामिल लोग करें विचार’
सांसद अजय मिश्र टेनी ने कहा कि इस तरह आंदोलन को ऐसे नहीं ले जाना चाहिए, ये पूरी तरह से गलत है। जो लोग भी इसमें शामिल हैं उन्हें इस पर विचार करना चाहिए। वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने आगामी कार्यक्रम रद्द कर गोरखपुर से लखनऊ लौट रहे हैं।

भाजपाई न गाड़ी से चल पाएंगे और न उतर पाएंगे-अखिलेश
पूरे मामले पर यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने सरकार पर हमला बोला है। अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि कृषि कानूनों का शांतिपूर्ण विरोध कर रहे किसानों को भाजपा सरकार के गृह राज्यमंत्री के पुत्र द्वारा, गाड़ी से रौंदना घोर अमानवीय और क्रूर कृत्य है। प्रदेश भाजपाइयों का ज़ुल्म अब और नहीं सहेगा। यही हाल रहा तो उप्र में भाजपाई न गाड़ी से चल पाएंगे, न उतर पाएंगे। जानकारी के मुताबिक एसपी सुप्रीमो अखिलेश यादव कल लखीमपुर जायेंगे,पीड़ित परिवारों से मिलेंगे।

आवाज उठाएँगे तो उन्हें गोली मार दोगे, गाड़ी चढ़ाकर रौंद दोगे-प्रियंका
लखीमपुर में हुई भारी हिंसा पर कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने भी योगी सरकार और बीजेपी को निशाने पर लिया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि भाजपा देश के किसानों से कितनी नफ़रत करती है? उन्हें जीने का हक नहीं है? यदि वे आवाज उठाएँगे तो उन्हें गोली मार दोगे, गाड़ी चढ़ाकर रौंद दोगे? बहुत हो चुका। ये किसानों का देश है, भाजपा की क्रूर विचारधारा की जागीर नहीं है। किसान सत्याग्रह मजबूत होगा और किसान की आवाज और बुलंद होगी।

किसान ने सांसद के बेटे पर लगाया गाड़ी चढ़ाने का आरोप
किसानों का आरोप है कि वह कृषि कानूनों के खिलाफ और गृह राज्य मंत्री की किसानों के प्रति की गई टिप्पणी से आहत थे। इसके विरोध में उन्होने काले झंडे दिखाकर विरोध प्रदर्शन करना तय किया था। भारतीय किसान यूनियन ने ट्वीट कर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे पर गाड़ी चढ़ाने का आरोप लगाया है।