15 अगस्त से पहले लाल किले के सामने खड़ी हुई कंटेनर की दीवार, इस बार…

नई दिल्ली. 15 अगस्त से पहले सुरक्षा के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने लाल किला के फ्रंट साइड पर पहली बार बड़े बड़े कंटेनर लगाए हैं. कंटेनर लगा देने के बाद सामने से लाल किला का व्यू नहीं दिखेगा. साथ ही सुरक्षा के अलावा इन कंटेनर्स पर 15 अगस्त से पहले पेंटिंग और सीनरी लगा दी जाएंगी. 15 अगस्त को लेकर सुरक्षा एजेंसियों ने पहले ही अलर्ट जारी कर रखा है. इस अलर्ट के बाद दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा के मद्देनजर पहली बार इतने बड़े-बड़े कंटेनर लाल किला के फ्रंट साइड पर लगाए हैं.

पिछले तीन दिनों से लगाए जा रहे कंटेनर के मामले में दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि 15 अगस्त के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए यह व्यवस्था की जा रही है. किले के मेन एंट्री गेट पर अवरोधक के रूप में रखे गए इन कंटेनरों ने के बारे में बताया गया कि यह कदम संभावित खतरे के कई पहलुओं को ध्यान में रखकर उठाया गया है.

पुलिस सूत्रों ने बताया कि लाल किले की एंटी पर ड्रोन रडार सिस्टम 10 अगस्त से पहले फिट कर दिए जाएंगे. इस सिस्टम का रेडार इलाके के ड्रोन को ढूंढ़कर जाम कर देगा. सूत्रों ने बताया कि इसकी रेंज तकरीबन 5 किलोमीटर है. यानी लाल किला के 5 किमी के दायरे में अगर किसी ने ड्रोन उड़ाई तो एंटी ड्रोन रेडार सिस्टम उसे निष्क्रिय कर देगा. सूत्रों ने यह भी जानकारी दी कि इस बार स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ पर ओलिंपिक खेलों में भाग लेने वाले सभी भारतीय खिलाड़ी लाल किले पर आयोजित 15 अगस्त के मुख्य अतिथि होंगे. पीएम नरेंद्र मोदी ने उन्हें आमंत्रित किया है. इनकी वजह से सुरक्षा ऐजेंसियों ने उनके लिए अलग से कॉरिडोर बनाया है. उनके बैठने का इंतजाम बाकी मेहमानों से अलग होगा. खास बात यह है कि पीएम मोदी इन खिलाड़ियों से यहां व्यक्तिगत रूप से मिलेंगे और बात भी करेंगे.