सोनिया, राहुल… सबको थैंक्स, अमरिंदर सिंह का जिक्र तक नहीं, अब भी खफा हैं नवजोत सिंह सिद्धू?

चंडीगढ़। नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष नियुक्त किए जाने के बाद सभी का आभार जताया है लेकिन सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह का जिक्र तक नहीं किया। इससे कयास लगाए जा रहे हैं कि सिद्धू और कैप्टन के बीच तनातनी अभी भी जारी है। वहीं सिद्धू को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाए जाने पर अमरिंदर की तरफ से भी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है और न ही उन्होंने कोई बधाई दी है।

नवजोत सिंह सिद्धू ने सभी का शुक्रिया अदा करते हुए ट्वीट किया, ‘जीतेगा पंजाब मिशन को पूरा करने के लिए पंजाब में कांग्रेस परिवार के हर सदस्य के साथ विनम्र कार्यकर्ता के रूप में काम करूंगा। पंजाब मॉडल और हाईकमान के 18 सूत्रीय एजेंडे के जरिए लोगों को उनकी शक्ति वापस दिलाने के लिए भी काम करूंगा। मेरी यात्रा अभी शुरू हुई है।’

गांधी परिवार का किया शुक्रियाअदा
गांधी परिवार के प्रति आभार जताते हुए सिद्धू ने लिखा, ‘आज उसी समने को पूरा करने के लिए आगे बढ़ूंगा और कांग्रेस के अजेय किले को और मजबूत करूंगा। मैं माननीय कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जी, राहुल गांधी जी और प्रियंका गांधी जी के प्रति आभारी हूं जिन्होंने मुझपर विश्वास किया और मुझे यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी।’

इतना ही नहीं सिद्धू ने अपने पिता की देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के साथ तस्वीर शेयर की। सिद्धू ने ट्वीट किया, ‘मेरे पिता एक कांग्रेस कार्यकर्ता थे जो शाही घराना छोड़कर स्वतंत्रता संग्राम में शामिल हो गए। उन्हें उनकी देशभक्ति के लिए मौत की सजा दी गई थी जिसे किंग्स एमनेस्टी ने टाल दिया था। उसके बाद वह डीसीसी के अध्यक्ष नियुक्त हुए, विधायक, एमएलसी और अडवोकेट जनरल बने।’

हालांकि सिद्धू के एक भी ट्वीट में पंजाब के सीएम का नाम नहीं था। सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के बाद सबकी नजरें कैप्टन के रुख पर हैं जिनके सिद्धू के साथ तल्खी काफी आगे बढ़ चुकी है। शनिवार को ही कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत से मुलाकात के बाद कैप्टन ने कहा था कि वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के किसी भी फैसले का स्वागत करेंगे।

हालांकि इस दौरान कैप्टन ने स्पष्ट रूप से कह दिया था कि जब तक सिद्धू उनके खिलाफ किए गए ‘अपमानजनक’ ट्वीट को लेकर सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांग लेते हैं तब तक वह उनसे मुलाकात नहीं करेंगे।