वैक्सीन लगवाने गए युवक की कर दी नसंबदी, पूरी बात जानकर सिर पीट लेंगे आप

एटा: प्रदेश में चल रहे जन संख्या स्थिरता पखवाड़े में जागरूकता के चलते जनपद के थाना अवागढ क्षेत्र के ग्राम विशुनपुर में रविवार को 45 वर्षीय मूक-बधिर युवक ध्रुव कुमार की क्षेत्रीय आशा नीलम देवी ने गांव से वैक्सीन लगवाने के लिए जिला महिला चिकित्सालय लाकर वैक्सीन लगवाने के स्थान पर उसकी नसबन्दी करा दी। सी एम ओ ने बताया कि गांव में घटना की जांच करने गयी टीम को उक्त युवक नहीं मिला मूक-बधिर युवक लापता हैं।

बिना बताए आशा ने नसबंदी कर दी
पीड़ित युवक के भाई अशोक कुमार ने बताया कि मेरे भाई को गांव की आशा नीलम देवी घर से वैक्सीन लगवाने की कहकर जिला महिला चिकित्सालय एटा लेकर गयी और वहां उसे बिना बताये नसबन्दी करा दी। वह बोल सुन भी नहीं पाता है। प्रभारी निरीक्षक अवागढ विजय प्रताप सिंह ने बताया कि गांव विशनपुर निवासी अशोक कुमार ने थाने में एक तहरीर दी है जिसमे उसने कहा है कि मेरे भाई ध्रुव को गांव की आशा वैक्सीन लगवाने की कहकर ले गयी और उसकी नसबन्दी करा दी।

उन्होंने आशा ने उसे साढे तीन हजार रुपये देने का लालच भी दिया था।उसके बाद वह उसे बीमार हालत में बाहर से ही घर छोड़कर चली गई। उसकी तबीयत खराब है, मेरे भाई की शादी भी नहीं हुई है। मुख्य चिकित्साधिकारी उमेश त्रिपाठी ने बताया कि उक्त प्रकरण की हमने ए सी एम ओ सुथीर मोहन से जांच करा ली है टीम उसके गांव गई थी। वहां पीड़ित से मुलाकात नहीं हुई है। वह घर से गायब है।

युवक के भाभी ने आशा को मिसगईड किया
पूरे घटना क्रम में आशा की कोई गलती नहीं है युवक की भाभी ने आशा को मिस गाइड किया था और नसबन्दी कराने के लिए ले जाने को कहा था उन्होंने युवक के तीन बच्चे भी बताये थे और यह भी बताया कि पत्नी इनके कोई काम न करने के कारण रूठकर चली गई है। यह पारिवारिक मैटर हैं। हमें इस बात की जांच करने की क्या पड़ी है कि उसकी शादी हुई है या नहीं?