वैक्सीन नहीं लगवाने वालों के खिलाफ नई सजा का ऐलान, ट्रेन यात्रा पर लगेगी रोक

इस्लामाबाद: दुनिया के कई देशों में फिर से रफ्तार पकड़ती कोरोनामहामारी से पाकिस्तानबुरी तरह डर गया है. इमरान खान सरकार जल्द से जल्द सभी लोगों का वैक्सीनेशन करना चाहती है. इस कड़ी में नई सजा का ऐलान भी किया गया है. यानी जो लोग वैक्सीन लगवाने को लेकर अब तक गंभीर नहीं हैं, उन्हें सरकार के प्रकोप का सामना करना होगा. सरकार ने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि एक अक्टूबर से बिना वैक्सीन वाले लोग ट्रेन यात्रानहीं कर पाएंगे.

इससे पहले भी सरकार कोरोना वैक्सीन न लगवाने वालों के दिल में खौफ पैदा करने के लिए कई कदम उठा चुकी है. जिसमें फ्लाइट बैन और सिम बैनजैसे फैसले शामिल हैं. पाकिस्तान ने वैक्सीन की एक भी डोज न लेने वालों के घरेलू फ्लाइट यात्रा करने पर पाबंदी लगाई हुई है. वहीं, सिंध प्रांत की सरकार ने हाल में वैक्सीन न लगवाने वाले लोगों के मोबाइल सिम को बंद करने का फरमान सुनाया था.

पाकिस्तान में कोरोना संक्रमण के रोकधाम के लिए गठित नेशनल कमांड एंड ऑपरेशन सेंटर की बैठक में ट्रेन यात्रा पर रोक लगाने का निर्णय किया गया. सेंटर ने वैक्सीन के प्रति लोगों की अनिच्छा और पुन: फैलते संक्रमण के मामलों पर भी चिंता जताई है. एक्सपर्ट्स का मानना है कि आने वाले दिनों में और भी कई सख्त फैसले लिए जा सकते हैं.

NCOC की बैठक की जानकारी देते हुए एक अधिकारी ने बताया कि ऐसे लोगों को एक अक्टूबर से ट्रेन यात्रा की इजाजत नहीं होगी, जो वैक्सीन नहीं लगवाना चाहते. इस फैसले पर सख्ती से अमल किया जाएगा. वैक्सीनेशन में शामिल नहीं होने वालों की घरेलू विमान यात्रा पर पहले ही पाबंदी लगा दी गयी है. बता दें कि पाकिस्तान ने फरवरी में टीकाकरण शुरू किया था और अब तक 3.7 करोड़ से अधिक लोगों को टीके की कम से कम एक खुराक लगी है. जबकि केवल 70 लाख लोगों को ही दोनों डोज लगी हैं.