लालू यादव को जाना पड़ सकता है जेल, टेंशन में फैमिली और समर्थक

पटना: आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें फिर बढ़ सकती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि चारा घोटाले (Fodder Scam) से जुड़े पांचवे और आखिरी केस में सुनवाई शुरू हो चुकी है। रांची हाईकोर्ट (Ranchi High Court) में डोरंडा कोषागार मामले में सुनवाई शुरू हुई है, इस पर अगले कुछ महीनों में फैसला आ सकता है। ऐसे में ये संभावना जताई जा रही कि लालू यादव को फिर से जेल जाना पड़ सकता है। इसको लेकर लालू फैमिली और उनके समर्थक टेंशन में नजर आ रहे हैं।

जमानत के बाद से दिल्ली में ही हैं लालू यादव
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू यादव हाल ही में जमानत पर छूटे हैं। वो दिल्ली में अपनी बेटी मीसा भारती के आवास पर रुके हुए हैं। इस दौरान आरजेडी सुप्रीमो के बाहर आते ही बिहार में सियासी सरगर्मियां काफी तेज हो गईं। लालू यादव को जमानत मिलने से परिजनों के साथ-साथ आरजेडी समर्थकों में नया जोश नजर आया। हालांकि, अब चारा घोटाले के सबसे बड़े मामले में सुनवाई शुरू होने के बाद चर्चा है कि क्या लालू यादव को फिर से जेल जाना होगा?

डोरंडा कोषागार मामले में सुनवाई शुरू, कुछ महीने में आ सकता है फैसला
डोरंडा कोषागार से करीब 139.5 करोड़ रुपये की अवैध निकासी के मामले में रांची हाईकोर्ट में वर्चुअल मोड में सुनवाई शुरू हुई है। कोरोना संकट के चलते करीब दो महीने से इस मामले की सुनवाई बंद थी। इस केस में जांच एजेंसी सीबीआई की ओर से काफी पहले ही लालू यादव समेत 100 से ज्यादा आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की जा चुकी है। जानकारी मिल रही कि इसमें अब बहस चल रही है, अगले 6 महीने में इस पर सुनवाई पूरी होने के साथ फैसला भी आ सकता है।

इसलिए टेंशन में लालू फैमिली और उनके समर्थक
ऐसी स्थिति में आरजेडी मुखिया को अगर सजा होती है तो उन्हें एक बार फिर जेल जाना होगा। हालांकि, उनकी तबीयत पिछले कुछ समय से ठीक नहीं चल रही है। यही वजह है कि रांची रिम्स से उन्हें दिल्ली के एम्स शिफ्ट किया गया था। बाद में जब उन्हें जमानत मिली तो उसके बाद भी लालू यादव अभी तक पटना नहीं पहुंचे हैं। दिल्ली में ही बेटी मीसा भारती के घर पर हैं और स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। 5 जुलाई को आरजेडी की स्थापना दिवस के मौके पर जरूर लालू यादव सबके सामने आए और वर्चुअली पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। लेकिन उनके स्वास्थ्य पर असर नजर आ रहा था। अब डोरंडा केस में कोर्ट के फैसले पर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं।