लाचार बाप के सामने ही 21 साल की बेटी को उठा ले गये वहशी तालिबानी

काबुल: तालिबान (Taliban) के लौटने के बाद अफगानिस्तान (Afghanistan) में महिलाओं और लड़कियों के हालात बहुत ही खराब हो गये हैं. तालिबान के आतंकी लोगों के घर-घर घुसकर 15 साल से बड़ी लड़कियों को जबरदस्ती उठाकर ले जा रहे हैं और उनसे शादी कर रहे हैं. बात यहीं पर नही रुक रही है, इसके अलावा इन लोगों ने कई सारी लड़कियों का सौदा कर दूसरे देशों में बेचा भी है. अभी हाल ही में तालिबानी बदख्शां प्रांत के एक गांव (Village of Badakhshan) पहुंचे और पिता की आंखों के सामने ही उसकी बेटी को उठा ले गए. बेटी को बचाने के लिए मजबूर पिता ने काफी हाथ पैर पटके पर वो कुछ कर ना सका.

इस तरह सुनाई खौफनाक दास्तां
वहां पहुंचे पत्रकारों ने बताया कि तालिबानी लड़ाके (Taliban Fighters) लोगों के घर में घुसकर अपने लिए दुल्हन (Brides) खोजने में लगे हैं. जो लड़की उन लोगों को पसंद आ जा रही है, वो उसको अपने साथ ले जाते हैं. ऐसा ही कुछ युवा अफगानी फरीहा ईजर (Fariha Easer) की एक दोस्त के साथ भी हुआ. फरीहा ने बताया कि कुछ आतंकी बदख्शां प्रांत में रहने वाली उसकी दोस्त के घर पहुंचे और उसको भी जबरन उठा ले गये.

DISTRICT GOVERNOR मदद करने में अक्षम
आतंकियों ने लड़की के पिता से बोला कि वो इस्लाम के रक्षक हैं और इसीलिए उन्हें पत्नी के रूप में उनकी लड़की चाहिए. तालिबानियों ने यह भी बोला कि उनका एक साथी मुल्ला है, इस कारण से वो जल्द ही शादी के लिए अपनी लड़की सौंप दें. डरे सहमे पिता ने डिस्ट्रिक्ट गवर्नर से मदद मांगी, लेकिन उनको निराशा होना पड़ा. पिता से ये कह कर मदद के लिए मना किया गया कि जो करना है, वो खुद करें. इसके बाद तालिबानी मजबूर पिता की 21 वर्षीय लड़की को अपने साथ ले गए.

छोटी बेटी को लेकर गायब हुआ पिता
बड़ी बेटी के जाने के बाद पिता ने अपनी दूसरी बेटी को लेकर कहीं चल गया है. फरीहा को अब इस बारे में जानकारी नहीं कि उसके दोस्त के पिता अपनी बेटी को लेकर कहां गये. काबुल में कब्जे के साथ सभी तालिबानी बेकाकू हो गये हैं. उनकी नजर अब वहां की महिलाओं पर ही है. अपनी पसंद की लड़की को वो लोग ले जाते हैं.