राजस्थान में रिश्वत लेते पकडी गई लेडी इंस्पेक्टर, फूट-फूटकर मारने लगी दहाडे

बूंदी. बूंदी में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) बारां की टीम ने महिला थाने में कार्रवाई करते हुए एक कांस्टेबल को 7 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुये गिरफ्तार कर लिया. मामले में थानाप्रभारी अंजना नोगिया (Anjana Nogia) की भूमिका सामने आने पर उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है. रिश्वत की यह राशि दहेज प्रताड़ना के मामले को रफा-दफा करने की एवज में ली गई थी. गिरफ्तार होने के बाद महिला थानाप्रभारी अंजना नोगिया फूट-फूटकर रोई और चादर से अपना मुंह छिपा लिया।

बारां एसीबी के एएसपी गोपाल सिंह कानावत ने बताया कि बूंदी महिला थाने के कांस्टेबल सुरेशचन्द जाट ने बारां निवासी फरियादी से दहेज प्रताड़ना के मामले में राजीनामा हो जाने पर उसे रिकॉर्ड में लेने तथा मामले को रफादफा करने के लिए 10 हजार रुपए रिश्वत मांगी थी. उसके बाद फरियादी और कांस्टेबल सुरेशचन्द जाट के बीच 7000 रुपये में सौदा तय हो गया.

सत्यापन में शिकायत सही पाई गई
इस पर फरियादी ने 18 नंबर को बारां एसीबी कार्यालय आकर कांस्टेबल सुरेशचन्द जाट द्वारा रिश्वत मांगे जाने के सबंध में शिकायत दर्ज कराई थी. इसके बाद हरकत में आई एसीबी टीम ने 19 नवंबर को शिकायत का सत्यापन करवाया तो वह सही पाई गई. इस पर एसीबी ने बुधवार को ट्रैप की कार्रवाई कर कांस्टेबल सुरेशचन्द जाट को 7000 रुपये की घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया.

कांस्टेबल ने स्वीकारा थानाप्रभारी की सहमति से ली रिश्वत
उसके बाद एसीबी ने आरोपी कांस्टेबल सुरेशचन्द जाट से इस मामले में पूछताछ में की. पूछताछ में कांस्टेबल ने थानाप्रभारी अंजना नोगिया की सहमति और उनसे बातचीत करने के बाद ही फरियादी से 7000 रुपये की रिश्वत राशि लेने की बात स्वीकारी. पूरे मामले में थानाप्रभारी अंजना नोगिया की भूमिका सामने आने पर एसीबी ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया.

आज कोर्ट में पेश किया जायेगा आरोपियों को
इसके बाद एसीबी ने कांस्टेबल के उनियारा स्थित आवास और थानाप्रभारी के कोटा में निजी तथा बूंदी स्थित सरकारी आवास पर सर्च अभियान चलाया. सर्च अभियान में क्या-क्या मिला इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आ पाई है. एएसपी कानावत ने बताया कि दोनों आरोपियों को गुरुवार को कोटा एसीबी न्यायालय में पेश किया जायेगा. एसीसी की कार्रवाई में गिरफ्तार होने के बाद थानाप्रभारी अंजना नोगिया फूट-फूटकर रोई. उसने अपना चेहरा चादर से छिपा लिया.