यूपी में सपा के साथ चुनाव लड़ेगी ओवैसी की पार्टी? AIMIM ने दिया ये बयान

लखनऊ: यूपी इलेक्‍शन 2022 को लेकर सपा और एआईएमआईएम (AIMIM) के गठबंधन को लेकर फैली सरगर्मी पर अब पार्टी प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने पानी फेर दिया है. AIMIM चीफ ओवैसी ने आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में सपा के साथ गठबंधन करने की खबरों का सिरे से खंडन कर दिया है.

एआईएमआईएम उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष शौकत अली ने कहा है, ‘हमने कभी यह नहीं कहा कि एआईएमआईएम सपा के साथ इस शर्त को लेकर गठबंधन कर सकती है कि सत्ता में आने पर अखिलेश यादव किसी मुस्लिम नेता को उप-मुख्यमंत्री बनाएंगे. हम इस बात से स्पष्ट तौर पर इनकार करते हैं क्‍योंकि ना तो मैंने और ना ही एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने ये बयान दिए हैं.’

सपा को मिले थे 20 फीसदी मुस्लिम वोट
अली ने आगे कहा, ‘हमने केवल यह कहा था कि सपा (SP) पिछले चुनावों में 20 फीसदी मुस्लिम वोट पाकर सत्ता में आई थी, लेकिन उन्होंने किसी मुस्लिम को उपमुख्यमंत्री नहीं बनाया.’ दरअसल कथित तौर पर शनिवार को असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि यदि सपा प्रमुख अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश में किसी मुस्लिम विधायक को उपमुख्यमंत्री बनाने के लिए सहमत होते हैं तो वह पार्टी के साथ गठबंधन करने के लिए तैयार हैं.

100 सीटों पर चुनाव लड़ेगी ओवैसी की पार्टी
इससे पहले एआईएमआईएम ने घोषणा की थी कि वह यूपी विधानसभा चुनाव में 100 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. राज्‍य की 110 विधानसभा सीटें ऐसी हैं जहां करीब 30 से 39 फीसदी मतदाता मुस्लिम हैं. वहीं 44 सीटों पर यह प्रतिशत 40-49 और 11 सीटों पर 50-65 प्रतिशत है.

वहीं ओवैसी यूपी की कई क्षेत्रीय पार्टियों के साथ भी संपर्क में हैं. वहीं 2017 के विधानसभा चुनाव में AIMIM ने 38 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे लेकिन जीत एक भी सीट पर नहीं मिली थी. इसके चलते पार्टी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में यूपी की एक भी सीट पर चुनाव नहीं लड़ा था. हालांकि, ओवैसी ने बीजेपी के खिलाफ प्रचार जमकर किया था.