यूपी- उत्तराखंड सहित इन राज्यों में अगले 3-4 दिन भारी बारिश की चेतावनी, यहां देखे

नई दिल्ली। देशभर में मानसून छा जाने के बाद अब अगले एक हफ्ते तक उत्तर भारत में भारी बारिश की संभावना जताई गई है। इस बीच मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि पूरे उत्तर भारत में 18 से 21 जुलाई तक भारी बारिश होगी, जबकि पश्चिमी क्षेत्रों में यह हालात 23 जुलाई तक जारी रहेंगे। मौसम विभाग के मुताबिक, पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र (जम्मू, कश्मीर, लद्दाख, गिलगित, बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड) में आगे भी भारी बारिश जारी रहेगी।

उधर उत्तर-पश्चिम भारत- पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, यूपी और उत्तरी मध्यप्रदेश में भी 18 से 21 जुलाई तक जबरदस्त बारिश होगी। इसके बाद इन क्षेत्रों में बारिश घटने का अनुमान है। मौसम विभाग ने कहा कि पश्चिमी और दक्षिण भारत में भी भारी बारिश होने की संभावना है। अगले पांच-छह दिनों के दौरान पश्चिमी तट और आसपास के क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी बारिश जारी रहने का अनुमान है। महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में भारी बारिश होगी।

आईएमडी ने कहा कि अगले 24 घंटों के दौरान उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश और पूर्वी राजस्थान में अलग-अलग स्थानों पर बिजली चमकने, बादल गरजने के साथ बौछारें पड़ने का अनुमान है। मौसम विभाग ने आगाह किया है कि इससे बाहर रहने वाले लोग और जानवर हताहत हो सकते हैं।

इस बीच मौसम विभाग ने हिमाचल प्रदेश में अगले तीन-चार दिनों में भारी बारिश का पूर्वानुमान लगाया है जिसके मद्देनजर शनिवार को राज्य में भूस्खलन की चेतावनी जारी की गई। मौसम विभाग के मुताबिक, शनिवार से हिमाचल प्रदेश में बारिश की गति बढ़ेगी और अगले-तीन से चार दिन में निचले और मध्य पहाड़ी इलाकों में सामान्य से भारी बारिश होगी।

बिहार में एक बार फिर मानसून सक्रिय हो गया है। इसके चलते प्रदेश में कुछ जिलों में भारी तो कुछ जिलों में सामान्य बारिश होने की उम्मीद है। पटना मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानी संजय कुमार का कहना है कि पश्चिमी चंपारण, सीतामढ़ी एवं मधुबनी में भारी बारिश की आशंका के मद्देनजर इन जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा अन्य जिलों में सामान्य बारिश के मद्देनजर येलो अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम विभाग के मुताबिक राजस्थान के कई हिस्सों में 21 जुलाई तक भारी बारिश होने का अनुमान है। इनमें जयपुर, भरतपुर, कोटा, और पूर्वी राजस्थान के हिस्से शामिल हैं। जयपुर और भरतपुर के इलाकों में 3 से 8 इंच तक बारिश हो सकती है। अगल चार दिनों में बिजली गिरने जैसी घटनाओं की भी आशंका जताई गई है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा है कि दक्षिण पश्चिम मानसून के फिर से सक्रिय होने के बाद उत्तरी क्षेत्र सहित देश के कई हिस्सों में अगले छह-सात दिनों में भारी से बहुत भारी बारिश होगी। इसका सबसे ज्यादा प्रभाव दिल्ली, यूपी, बिहार, राजस्थान, हरियाणा और पंजाब के क्षेत्रों में पड़ेगा। यहां लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिलेगी।