युवाओं में इसलिए बढ़ रही हार्ट अटैक की दिक्कत, भूलकर भी इन लक्षणों को ना करें नजरअंदाज

Heart Attack: आज के इस आधुनिक युग में इंसान खुद को सबसे अलग दिखाने व कामयाबी हासिल करने में लगा रहता है। इस डिजिटल युग में युवाओं के अंदर सब कुछ जल्दी पाने की चाहत होती है। यही चाहत कुछ लोगों के लिए घातक भी साबित होती है। मौजूदा समय में युवाओं में दिल की समस्याएं ज्यादा बढ़ रही हैं। पिछले कुछ सालों से ऐसा देखने में भी आ रहा है कि हार्ट अटैक (Heart Attack) की वजह से कम उम्र में ही मौतें हो रही हैं। वहीं, कोरोना वायरस से जंग जीत चुके लोगों में भी दिल की समस्याएं बढ़ती जा रही हैं। इस सम्बंध में ‘न्यूज़ट्रैक’ ने लोहिया संस्थान (Dr RML Institute of Medical Sciences) के कार्डियोलॉजी विभाग (Cardiology Department) के विभागाध्यक्ष व हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ. भुवन चंद्र तिवारी (Dr. Bhuwan Chandra Tiwari) से बातचीत की। जिन्होंने इसका मुख्य कारण युवाओं की बदली हुई लाइफस्टाइल को बताया।

इन वजहों से युवाओं में बढ़ रहीं दिल की समस्याएं
‘न्यूज़ट्रैक’ से बातचीत में जाने-माने कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. भुवन चंद्र तिवारी ने बताया कि युवा पीढ़ी की लाइफस्टाइल खराब है। वह अपनी मसल्स बनाने के लिए जिन स्टेरॉयड व प्रोटीन पाउडर का इस्तेमाल करते हैं, वही उनके लिए घातक साबित होता है। उन्होंने कहा कि युवाओं के अंदर हार्ट अटैक बढ़ने की वजह उनकी खराब लाइफस्टाइल है। आज की युवा पीढ़ी देर तक जगती है। इसके चलते सुबह समय पर उठ नहीं पाती है। जिससे सुबह वह न तो व्यायाम कर पाते हैं और न ही टहलते हैं। तो युवा पीढ़ी पूरी तरह से फास्ट फूड और जंक फूड पर निर्भर हुई जा रही है। वहीं, ये पीढ़ी अत्यधिक धूम्रपान व शराब का सेवन करती है। इसकी वजह से भी हार्ट की समस्याएं बढ़ रही हैं।

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
जिम जाने से भी होता है हार्ट अटैक
हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ. भुवन चंद्र तिवारी ने बताया कि ज्यादा जिम करने से, प्रोटीन पाउडर व स्टेरॉयड के इस्तेमाल से भी हार्ट अटैक की समस्या उत्पन्न होती है। उन्होंने कहा,”यंग जेनरेशन जिम में ज्यादा वक्त बिताती है। अपनी मसल्स को बनाने के लिए वह अत्यधिक प्रोटीन, फूड सप्लीमेंट्स व स्टेरॉयड भी लेते हैं, लेकिन वह कितना सही है, इसका ध्यान नहीं देते हैं। वहीं, कुछ लोग दो-दो घण्टे जिम में बिता देते हैं। पानी तक नहीं पीते। जिसकी वजह से भी हार्ट अटैक आता है।”

हार्ट अटैक आने का कारण

• ख़राब लाइफस्टाइल।

• व्यायाम न करना।

• फास्ट-फ़ूड व जंक फूड खाना।

• धूम्रपान व शराब का सेवन।

• अत्यधिक प्रोटीन व स्टेरॉयड लेने से।

• मसल्स बनाने के लिए दवाएं लेना।

• जिम करते वक़्त पानी न पीना।

• ज्यादा जिम करना।

हार्ट अटैक पड़ने के लक्षण

• सीने में दर्द होना।

• सीने में भारीपन होना।

• अचानक से पसीना आना।

• सीने के आसपास या बीच में बेचैनी।

• सांस लेने में परेशानी।

• जी मचलाना।

• सिरदर्द के साथ उल्टी आना।

• शरीर के ऊपरी हिस्से जैसे बांहों, पीठ, गले, कंधे और पेट में दर्द।

• दिल की धड़कनों का अनियंत्रित होना।

• हाथ या एड़ी में सूजन।

• दांत और जबड़े में दर्द।

• लगातार खांसी।

ये हैं उपाय

डॉ. भुवन चंद्र तिवारी ने बताया,”दिल को दुरुस्त रखने के लिए सबसे पहले धूम्रपान व शराब का सेवन बंद करना चाहिए। जंक फूड्स खाने से बचें। साथ ही हरी सब्जी व मौसमी फल को खाना चाहिए। विटामिन ए, सी, पोटेशियम, मैग्नीशियम और अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्व दिल के लिए फायदेमंद होते हैं।”