मैंने एक वोट से ग‍िरा दी थी वीपी सरकार, मुझे उकसाओ मत- बीजेपी सांसद की ट‍िप्‍पणी

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर बीजेपी नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा और बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी के बीच लगातार वार पलटवार चल रहा है। एक फोटो से शुरू हुई ये कहानी अब वीपी सिंह की सरकार तक जा पहुंची है।

बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी अपनी ही सरकार की विदेश और वित्त नीतियों के खिलाफ लगातार लिखते रहते हैं। कई बार इन नीतियों के खिलाफ स्वामी के बोलने से बीजेपी भी असहज हो चुकी है, लेकिन अपनी बेबाकी के लिए मशहूर स्वामी को शायद ही इन चीजों से फर्क पड़ता हो।

स्वामी की इन्हीं आलोचनाओं को लेकर बीजेपी युवा मोर्चा के नेशनल सेक्रेटरी तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने एक फोटो को शेयर कर स्वामी पर विपक्ष के साथ हाथ मिलाने का आरोप लगाया था। बाद में वो फोटो फर्जी निकली थी। जिसके बाद स्वामी ने कार्रवाई की मांग की थी। यहीं से दोनों नेताओं के बीच शुरू हुआ वाकयुद्ध पर सरकार गिराने की बात तक पहुंच गया है।

इसी वार पलटवार के बीच स्वामी ने एक रिप्लाई में कहा कि मैंने वीपी सिंह की सरकार भी गिराई और राजीव गांधी के समर्थन से चंद्रशेखर की सरकार बनाई। फिर मैंने बीजेपी के खिलाफ पीवीएनआर सरकार की मदद की। मुझे उकसाओ मत करो। मैं आरएसएस और विहिप के आशीर्वाद से भाजपा में आया हूं। विचारधारा मायने रखती है।

इसी रिप्लाई का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए बग्गा ने स्वामी के खिलाफ ट्वीट में कुछ आपत्तिजनक बातें भी कह दी। बग्गा ने कहा कि ये धमकियां किसी और को देना। ये मोदी है तुम्हारे जैसा 3600 खत्म करने आए और गए….।

इससे पहले स्वामी ने कहा था कि बीजेपी में आने से पहले बग्गा कई बार जेल जा चुका है? अगर सच है तो नड्डा को पता होना चाहिए। इसके बाद बग्गा ने भी पलटवार करते हुए कहा था कि मेरे ऊपर आरोप साबित करने के लिए 48 घंटे हैं आपके पास। इन दोनों ने एक दूसरे के खिलाफ ट्विटर पर कई आरोप लगाए हैं। अभी तक इन दोनों के टकराव के बीच पार्टी ने सीधे तौर पर कोई स्टैंड नहीं लिया है।