मरने से पहले यह भी कर लेना चाहते हैं एलन मस्क, जानें क्या है ‘आखिरी इच्छा’

वॉशिंगटन। टेस्ला और स्पेसएक्स के मालिक एलन मस्क मंगल ग्रह पर इंसानों को बसाने का सपना देख रहे हैं लेकिन उन्होंने इसके लिए एक समय सीमा तय की है। 50 वर्षीय मस्क मंगल ग्रह को लेकर अपनी योजनाओं के बारे में पहले ही बता चुके हैं। वह सुदूर ग्रह पर इंसानों की एक बस्ती बसाना चाहते हैं। अब उन्होंने लाल ग्रह पर एक मैन्युफैक्चरिंग स्टेशन की स्थापना करने की इच्छा जताई है।

टेस्ला शेयरहोल्डर मीटिंग में बोलते हुए एलन मस्क ने ‘दूसरे ग्रह की फैक्ट्री’ के बारे में बताया। एक शेयरहोल्डर ने इस अंसभव सी लगने वाली चीज के लिए समयसीमा पूछी। जिसके जवाब में उन्होंने अपने जीवनकाल में इसकी स्थापना की संभावना जताई। फॉक्स बिजनेस की रिपोर्ट के मुताबिक मस्क ने कहा कि हम टेस्ला की पहली ‘ऑफ-प्लैनेट फैक्ट्री’ से कई साल पीछे हैं। ‘मरने से पहले मैं इसे देखना चाहता हूं। यह मजेदार होगा।’

असली Iron Man बना रहे Elon Musk? कहा, ‘साई-फाई फिल्मों की तरह मनहूस नहीं होगा इंसानी रोबॉट’

2050 तक मंगल पर बसेंगे 10 लाख इंसान
इस साल की शुरुआत में एलन मस्क जेफ बेजोस को पीछे छोड़ते हुए दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए थे। उनकी कार निर्माता कंपनी टेस्ला और रॉकेट कंपनी स्पेसएक्स की मार्केट वैल्यू कई गुना बढ़ गई थी। एलन मस्क को स्पेस में काफी दिलचस्पी है। उन्होंने फरवरी में कहा था कि वह 2026 तक इंसानों को मंगल ग्रह पर भेजना चाहते हैं। मस्क का दावा है कि एक बार स्पेसएक्स इंसानों को मंगल पर भेजने कामयाब हो गई तो 2050 तक 10 लाख लोगों को रहने के लिए ‘लाल ग्रह’ पर भेजा जा सकेगा।

ग्लास डोम्स में रहेंगे इंसान
वह मंगल जैसे कठोर ग्रह पर इंसानों के लिए रहने योग्य ‘glass domes’ का सपना देक रहे हैं। तकनीक की रेस में मस्क तेजी से आगे निकलने की तैयारी में हैं। बीते दिनों उन्होंने कहा था कि उनकी कंपनी ह्यूमनॉइड रोबॉट बना रही है और अगले साल तक इसका प्रोटोटॉइप तैयार हो जाएगा। Tesla के AI Day पर मस्क ने यह ऐलान किया था। सोशल मीडिया पर पहले ही इस रोबॉट को फिक्शनल कॉमिक और फिल्म कैरेक्टर Iron Man कहा जाने लगा है।