भूकंप के तेज झटकों से दहल उठा देश, कई इमारतों को भारी नुकसान, सड़कों पर भागे लोग

मेलबर्न. ऑस्ट्रेलिया (Australia) में बुधवार सुबह 9 बजे दक्षिणी-पूर्वी शहर मेलबर्न एक दुर्लभ भूकंप (Earthquake in Melbourne) से हिल गया. रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 5.9 मापी गई. भूकंप इतना भयानक था कि कई इमारतें हिल गईं और दीवारें ढहने लगीं थीं. दुर्लभ भूकंप इसलिए क्योंकि मेलबर्न शहर में ना के बराबर भूकंप आते हैं.

लोग दहशत में शहर की सड़कों पर बेहताशा भागने लगे. इसके झटके सैकड़ों किलोमीटर तक महसूस किए गए. यूएस जियोलॉजिकल सर्वे (US Geological Survey) के मुताबिक, पहले भूकंप 5.8 तीव्रता का बताया गया था, बाद में इसे 5.9 किया गया. इसकी गहराई जमीन से 10 किमी. नीचे थी.

हर तरफ दहशत का माहौल
भूकंप के बाद मेलबर्न के चैपल स्ट्रीट में हर तरफ मलबा बिखरा पड़ा है. यहां इमारतों से ईट-पत्थर सड़कों पर आकर गिरने लगे. मेलबर्न के एक कैफे के मालिक जूमे फिम के मुताबिक, जैसे ही भूकंप आया, वह बाहर निकलकर सड़क की ओर भागा. पूरी बिल्डिंग कांप रही थी. सारी खिड़कियां, शीशे हिल रहे थे, ऐसा लगा जैसे कोई पावरफुल लहर आ रही हो. फिम ने बताया कि उसने ऐसा पहले कभी भी महसूस नहीं किया था. यह काफी डरावना था.

इस क्षेत्र में कम आता है भूकंप
ऑस्ट्रेलिया का दक्षिण पूर्व हिस्सा भूकंप के लिए नहीं जाना जाता है. इसलिए यहां भूकंप आने को दुर्लभ घटना माना जाता है. मेलबर्न के ही एक कैफे में काम करने वाले पार्कर मायो ने बताया कि यह काफी दहशत फैलाने वाला था. हम सभी भूकंप से हैरान हैं. इससे पहले यहां साल 1800 में शक्तिशाली भूकंप आया था, उसके बाद से किसी बड़े भूकंप ने यहां नुकसान नहीं पहुंचाया. यहां 10 से 20 साल में एक बार भूकंप आता है. आखिरी बार भूकंप के झटके 2012 में महसूस किए गए थे.