बॉयफ्रेंड की अजीबोगरीब सेक्सुअल कंडीशन, कहीं आपके साथ भी तो नहीं हो रहा कुछ ऐसा?

लिव इन रिलेशनशिप में रहने वाली एक महिला ने अपने बॉयफ्रेंड की अजीबोगरीब सेक्सुअल कंडीशन का खुलासा किया है. सोशल मीडिया पर इस महिला ने सेक्स एंड रिलेशनशिप एक्सपर्ट से सलाह भी मांगी है और कहा है कि वो अपनी इस सिचुएशन से परेशान है.

लिव इन में रहने का फैसला
महिला ने लिखा है, ‘अपने बॉयफ्रेंड के साथ मैं पिछले तीन साल से रिलेशनशिप में हूं. कोरोना महामारी के बीच उसकी जॉब चली गई, परिवार के लोग बीमार पड़ गए और उसकी आंटी की मौत हो गई. वह इन बातों से बहुत टूट गया था, जिसके बाद हमने साथ रहने का फैसला किया. पिछले 4 महीने से हम लिव इन में रह रहे हैं. ‘

बदला हुआ सेक्सुअल बिहेवियर
महिला ने बताया कि हमारा रिश्ता कमाल का था, मानसिक और शारीरिक रूप से हम दोनों एक दूसरे के लिए परफेक्ट थे, लेकिन पिछले महीने से ऐसी चीजें हो रही हैं, जिसे लेकर मैं परेशान हूं. महिला ने अपने बॉयफ्रेंड बदले हुए सेक्सुअल बिहेवियर के बारे में बताया कि उसे ‘सेक्सोमेनिया’ की बीमारी है, इस बीमारी में मरीज नींद में सेक्स करता है और सुबह उठने के बाद उसे कुछ याद नहीं रहता. महिला ने कहा कि जब बॉयफ्रेंड के बदले हुए बिहेवियर को मैंने नोटिस किया तो इसके बारे में इंटरनेट पर सर्च किया. इस बीमारी को ‘स्लीप सेक्स’ भी कहते हैं.

कोई असर नहीं
महिला ने ये भी लिखा है कि मैंने अपने बॉयफ्रेंड को बहुत समझाया और ये भी कहा कि मैं उसे छोड़कर चली जाऊंगी, लेकिन उस पर कोई असर नहीं हुआ. उसे ये याद नहीं रहता कि सोने से पहले हमारी क्या बात हुई थी. वो बहुत जल्दी सो जाता और फिर उसका सेक्सोमेनिया जाग जाता. काफी लड़ाई-झगड़े के बाद हमने सेक्स करना ही बंद कर दिया.

अचानक ठीक हो गया ‘सेक्सोमेनिया’
महिला ने आगे लिखा है, ‘मैंने उससे कहा कि जब तक वो डॉक्टर से इस बीमारी को लेकर संपर्क नहीं करेगा, हमारे बीच कोई फिजिकल रिलेशनशिप नहीं होगा. उसने माफी मांगी और कहा कि वह डॉक्टर से मिलेगा और खुद पर कंट्रोल करने की कोशिश करेगा. लेकिन इतनी सारी बातें होने के बाद भी उसकी आदत नहीं बदली और वो फिर से स्लीप सेक्स करने लगा.’ महिला ने बताया कि उन्होंने इंटरनेट पर इस बीमारी की जानकारी ली और अपने बॉयफ्रेंड के डाइट में बदलाव से लेकर शराब पीने की आदत और स्ट्रेस को दूर करने की कोशिश की. इन सबके बाद एक दिन अचानक महिला ने ब्रेकअप की बात कह दी और तब वो इस बात से हैरान रह गईं कि बॉयफ्रेंड का सेक्सोमेनिया अचानक ठीक हो गया.

बीमारी सच थी या झूठ?
अब महिला को इस बात पर यकीन नहीं हो रहा था कि पहले जो हुआ वो सच था या झूठ. महिला का कहना है कि मुझे समझ नहीं आ रहा कि उसकी बीमारी नकली थी या असली. महिला ने लिखा है कि अब हमारी सेक्स लाइफ भी पहले जैसी नहीं जबसे उसका ‘सेक्सोमेनिया’ खत्म हुआ है. मुझे लगता है कि उसने आपसी रजामंदी से शारीरिक संबंध से बचने के लिए मुझसे झूठे स्लीप डिसऑर्डर का नाटक किया. सबसे बड़ी बात है कि जबसे मैंने उसे छोड़ने की धमकी दी, उसकी बीमारी ठीक हो गई. जबकि इस बीमारी में मरीज को कुछ भी याद नहीं रहता. महिला ने आगे लिखा है, ‘ये बात मुझे परेशान करती है. लेकिन मैं अपने बॉयफ्रेंड से इस बारे में बात करने से डरती हूं कि कहीं उसे ऐसा न लगे कि मैं उस पर नकली बीमारी का बहाना करने का इल्जाम लगा रही हूं. इन बातों का मेरी रिलेश​नशिप पर बुरा असर पड़ रहा है.’