बांग्लादेश से भारत होते हुए पाकिस्तान तक, कौन सा गलियारा बनाने की तैयारी में हैं कट्टरपंथी?

पटना। 17 जून 2021 को बिहार के दरभंगा रेलवे स्टेशन पर हुए केमिकल ब्लास्ट मामले में एनआईए ने यूपी के शामली के रहने वाले मोहम्मद इमरान और मोहम्मद नासिर को हैदराबाद से गिरफ्तार किया था। बिहार विधान परिषद के पूर्व सदस्य और बीजेपी नेता हरेंद्र प्रताप का कहना है कि पहले बिहार के दरभंगा, समस्तीपुर, मधुबनी और उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ मॉड्यूल की चर्चा होती थी लेकिन अब इसमें नया नाम शामली का भी जुड़ गया है।

बांग्लादेश और पाकिस्तान को जोड़ने के लिए मुस्लिम पट्टी
हरेंद्र प्रताप का कहना है कि इस्लामिक कट्टरपंथियों द्वारा उत्तर भारत में मुस्लिम गलियारा बनाने की कोशिश की जा रही है ताकि बांग्लादेश और पाकिस्तान को जोड़ा जा सके। हालांकि यह बात सुनने में अजीब लगती है लेकिन हरेंद्र प्रताप ने कहा कि यह गलियारा पश्चिम बंगाल, बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब से होते हुए हुए पाकिस्तान से मिलेगा। यही वजह है कि कट्टरपंथियों द्वारा सभी राज्य के सीमा से लगे जगहों पर मुस्लिम आबादी की संख्या बढ़ाने का काम किया जा रहा है। इसके लिए बांग्लादेशी और रोहिंग्या मुसलमानों को घुसपैठ करा कर सभी राज्यों के सीमावर्ती इलाकों में बसाने का काम भी कट्टरपंथियों द्वारा किया जा रहा है।

हरेंद्र प्रताप ने कहा कि इसके लिए मुस्लिम कट्टरपंथी, विदेशों से मिल रहे पैसों से जमीन खरीद कर वहां मदरसा, मस्जिद बनाने का काम कर रहे हैं। इन मदरसा, मस्जिद में आतंकवादियों को संरक्षण भी देने का काम किया जा रहा है। पूर्व विधान पार्षद ने कहा कि कट्टरपंथियों द्वारा चुपचाप इस गलियारे का निर्माण करने के साथ इन इलाकों में गैर मुसलमानों के ऊपर अत्याचार कर उन्हे पलायन के लिए मजबूर भी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह कोई आज की प्रक्रिया नहीं है बल्कि कई सालों से यह कार्य चल रहा है और अभी इस पर लगाम नहीं लगाया गया तो आने वाले कुछ ही महीने में यह एक बड़ा खतरा बनकर सामने आएगा।

1981 में भी सदन के अंदर उठा था सीमांचल में घुसपैठ का मुद्दा
बिहार विधान परिषद के पूर्व सदस्य ने कहा कि 1981 के तत्कालीन विधायक गणेश प्रसाद यादव जो बाद में जेडीयू में शामिल हो गए थे। हरेंद्र प्रताप ने बताया कि दिवंगत गणेश प्रसाद यादव ने 1981 में सदन के अंदर यह कहा था कि पूर्णिया जिला में बांग्लादेश के घुसपैठियों द्वारा ऊंची कीमत पर जमीन की खरीद की जा रही है और सरकार घुसपैठियों पर कार्रवाई करने में असमर्थ है। इसके बाद 1983 में तत्कालीन मंत्री जनार्दन तिवारी ने भी पूर्णिया, किशनगंज, सिवान और कटिहार में बड़े पैमाने पर घुसपैठ की बात कही थी। 1992 में बीजेपी विधायक सुशील कुमार मोदी ने भी सीमांचल के इलाके में घुसपैठ का मामला बिहार विधानसभा में उठाया था। हरेंद्र प्रताप ने कहा कि उस वक्त करीब 18 हज़ार फर्जी मतदाता को पकड़ा गया था। और आज की तारीख में 50 लाख घुसपैठिए बिहार में रह रहे हैं।

बिहार के गृह मंत्री नीतीश कुमार क्या कर रहे हैं : आरजेडी
आरजेडी नेता और प्रवक्ता विजय प्रकाश ने घुसपैठ के मामले में कहा कि केंद्र में 7 साल से बीजेपी की सरकार है और बिहार में 15 साल से बीजेपी की गोद में बैठकर नीतीश कुमार सरकार चला रहे है। ऐसे में घुसपैठ कैसे हो रहा है इसका जवाब तो उन्हें देना चाहिए। बिहार में अगर घुसपैठिए हैं तो मुख्यमंत्री सह गृह मंत्री नीतीश कुमार गद्दी पर बैठकर क्या कर रहे हैं। क्या नीतीश कुमार का काम सिर्फ भाषण देना ही है या फिर उन्हें सीमांचल के इलाके में जाकर देखना चाहिए कि वहां घुसपैठ हो रहा है या नहीं। विजय प्रकाश ने कहा कि उत्तर प्रदेश चुनाव की वजह से जाति-धर्म को हवा देकर यह लोग वोट हासिल करना चाहते हैं। आरजेडी नेता ने कहा कि बीजेपी और नीतीश कुमार जमीर बेचकर सरकार चलाने वाले लोग हैं। उन्हें जनता की भलाई से नहीं बल्कि सिर्फ जनता के वोट से मतलब है चाहे वह किसी भी प्रकार से मिल जाए।

बांग्लादेश से लेकर पाकिस्तान तक मुस्लिम कॉरिडोर पर पीएम दें जवाब : कांग्रेस
कांग्रेस नेता और प्रवक्ता राजेश सिंह राठौर का कहना है कि बीजेपी के एमएलए और उनके मंत्री बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ही कठघरे में खड़ा कर रहे हैं। जब भारतीय जनता पार्टी के मंत्री और एमएलए कह रहे हैं कि बिहार में घुसपैठ बढ़ रहा हैं तो इसका जवाब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को देना चाहिए। दूसरी तरफ बीजेपी के नेता कह रहे हैं कि बांग्लादेश से लेकर पाकिस्तान तक मुस्लिम कॉरिडोर बनाया जा रहा है। आश्चर्य इस बात का है कि दिवंगत इंदिरा गांधी ने जिस पाकिस्तान के दो टुकड़े में बांट दिया था। नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में बीजेपी के कार्यकर्ता के अनुसार बंगाल से पाकिस्तान तक मुस्लिम कॉरिडोर बनाया जा रहा है। इस तरह के बयान से तो बीजेपी के कार्यकर्ता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ही कार्य पर सवाल उठा रहे हैं।

मुस्लिम गलियारे पर जेडीयू की प्रतिक्रिया
मुस्लिम गलियारे पर जेडीयू प्रवक्ता अभिषेक झा का कहना है कि मुस्लिम कट्टरपंथी कौन सा गलियारा बना रहे हैं यह तो उन्हें नहीं मालूम, लेकिन इतना तय है कि एनआरसी पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने इरादे स्पष्ट कर दिए हैं। ओवैसी के चोर दरवाजे से बिहार में एनआरसी लागू करने वाली बात पर जेडीयू प्रवक्ता ने कहा कि कौन क्या कहता है इसकी परवाह जदयू नहीं करती। बिहार में घुसपैठ से जुड़े जो भी बयान आ रहे हैं विपक्ष उस पर पूरी तरह से राजनीति कर रहा है।

जनता दल यूनाइटेड के विधान पार्षद गुलाम रसूल बलियावी ने भी कहा कि बिहार में कोई घुसपैठ नहीं हो रहा। बलियावी ने यह भी कहा कि जिनके दिमाग में ही एक खास समुदाय को लेकर जो सोच घुसपैठ कर चुकी है उन्हें ही हर जगह घुसपैठिए नजर आते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि अगर किसी को कोई शक है तो वह खुद ही जांच करा सकता है।