बडी खुशखबरी! अगस्त में किसानों के खाते में आएंगे 2 लाख 25 हजार, जाने क्यों और कैसे?

नई दिल्ली: Kisan Bonus: कोरोना की दूसरी लहर ने इस साल भी काम-धंधा, खेती सब चौपट कर दिया है. लेकिन इसी बीच लाखों किसानों के लिए एक बड़ी खुशखबरी है. बनास डेयरी (Banas milk) ने अपने किसानों को लाखों रुपये को बोनस देने का ऐलान किया है. इसके तहत बनास डेयरी हर किसान के अकाउंट में लाखों रुपये भेजेगा.

1128 करोड़ रुपये का बोनस
बनासकांठा जिला सहकारी दुग्‍ध संघ (Banas Dairy ) के चेयरमैन शंकरभाई चौधरी ने अपने 5 लाख से अधिक पशु पालक किसानों को 1128 करोड़ रुपये का बोनस देने का ऐलान किया है. इसके तहत किसानों के खाते में ये बोनस अगले महीने अगस्त में ट्रांसफर किए जाएंगे.

किसानों के खाते में 225,600 रुपये
आपको बता दें कि देश में यह किसी भी सहकारी डेयरी द्वारा घोषित अबतक का सबसे बड़ा बोनस है. इस बोनस योजना के तहत हर किसान के अकाउंट में करीब 225,600 रुपये भेजे जाएंगे. ताकि किसानों की आर्थिक स्थिति सुधर सके.

125 करोड़ रुपये के डिबेंचर्स का पेमेंट
बनास डेयरी दुग्‍ध समितियों को 125 करोड़ रुपये के डिबेंचर्स का पेमेंट करेगी. गुजरात में बनासकांठा जिले के 5.5 लाख दुग्‍ध उत्‍पादक किसानों को 1007 करोड़ रुपये डायेरेक्ट पेमेंट किया जाएगा. गौरतलब है कि वित्‍त वर्ष 2019-20 में बनास डेयरी ने अपने किसानों को 1144 करोड़ रुपये के बोनस दिया था.

बनास डेयरी का रेवेन्यू
वित्‍त वर्ष 2020-21 के दौरान बनास डेयरी का रेवेन्यू 11 फीसदी बढ़कर करीब 13,000 करोड़ रुपये हो गया है. दुग्‍ध और गैर-दुग्‍ध व्‍यवसाय जैसे खाद्य तेल, शहद ने बनास डेयरी के रेवेन्यू बड़ा सहयोग दिया है. डेयरी ने कहा कि हमनें लागत अनुकूल उपायों को अपनाया है और लागत कम करने के लिए अपने खर्चों में कटौती की है. बनास डेयरी अपनी कुल आमदनी का 82.28 फीसदी हिस्‍सा दुग्‍ध उत्‍पादकों को देती है.

किसानों को सबसे ज्यादा मुनाफा देने वाली डेयरी
गौरतलब है कि बनास डेयरी से बड़ी डेयरी भी अपने किसानों को इतना मुनाफा नहीं देती है. अर्जेंटीना अपने किसानों को 22 रुपये लीटर, ब्राजील 31 रुपये लीटर, न्‍यूजीलैंड और अमेरिका 30 रुपये लीटर का भुगतान करते हैं. जबकि बनास डेयरी अपने दुग्‍ध उत्‍पादकों को 41.30 रुपये प्रति लीटर की दर से भुगतान करती है.