फर्जी वैक्सीन को लेकर WHO ने जारी किया अलर्ट, भारत से की ये अपील…

नई दिल्ली। 18 अगस्त। पूरी दुनिया इस समय कोरोना महामारी से लड़ रही है। हालांकि कोरोना की वैक्सीन आ जाने से लोगों को इसके खिलाफ लड़ाई में राहत जरूर मिली है। लेकिन अब फर्जी कोरोना वैक्सीन एक नई समस्या बन गई है। भारत में लोगों को कोविशील्ड वैक्सीन फर्जी लगाए जाने की भी खबर सामने आई है। ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका और सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा मिलकर बनाई गई इस वैक्सीन की फर्जी वाइल की खबर सामने आने के बाद चिंता बढ़ गई है। केंद्र सरकार लोगों को सही वैक्सीन देने की तमाम कोशिश कर रही है बावजूद इसके फर्जी वैक्सीन की सप्लाई चिंता का विषय बनी हुई है। यही वजह है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत और युगांडा में फर्जी कोविशील्ड वैक्सीन की डोज को लेकर अलर्ट जारी किया है।

मंगलवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने साऊथ ईस्ट एशिया और अफ्रीका में फर्जी कोविशील्ड वैक्सीन को लेकर हेल्थ अलर्ट जारी किया है। जिसमे कहा गया है कि फर्जी वैक्सीन की रिपोर्ट जुलाई और अगस्त माह में सामने आई है। खुद एसआईआई ने भी इस बात की पुष्टि की है कि कुछ वैक्सीन की वाइल फर्जी हैं। इसके साथ ही डब्ल्यूएचओ ने भारत से अपील की है कि वह अस्पताल, क्लीनिक, हेल्थ सेंटर, थोक विक्रेता, डिस्ट्रिब्यूटर, मेडिकल स्टोर और अन्य मेडिकल सप्लायर के यहां सतर्कता को बढ़ाएं। साथ ही सप्लाई चेन में भी सतर्कता को बढ़ाने के लिए कहा है जिससे फर्जी वैक्सीन के वितरण को रोका जा सके।

बता दें कि भारत में कोविशील्ड 2एमल की पहचान एसआईआई की ओर से की गई है और कहा गया कि हम 2एमल डोज को तैयार नहीं करते हैं। युगांडा में कोविशील्ड का बैच 4121Z040 भेजा गया जिसकी एक्सपायरी 10 अगस्त बताई गई है। लेकिन सीरम इंस्टिट्यूट ने विश्व स्वास्थ्य संगठन को जानकारी दी है कि इसका उत्पादन हमने नहीं किया है और यह फर्जी वैक्सीन है।