पत्नी की हुई मौत तो पुलिसवाले ने श्मशान में ही लगा ली फांसी, रुला देगा सुसाइड नोट

Raipur: हम सभी ने अक्सर फिल्मों में ऐसी प्रेम कहानियां देखी होंगी, जिनमें किसी हीरो या हीरोइन की मौत पर उसका साथी भी जान दे देता है. लेकिन ऐसी ही एक प्रेम कहानी हकीकत में देखने को मिली है, जहां पति (husband), पत्नी की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाया और उसने उसी जगह फांसी लगाकर जान दे दी, जहां पत्नी की चिता जलाई गई थी. यह मामला छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बालोद का है. गौरतलब है कि सुसाइड करने वाला युवक पुलिसकर्मी था और इन दिनों धमतरी जिले के बोरई थाने में तैनात था.

घटना बालोद जिले के टेकापार गांव की है, जहां रहने वाले मनीष नेताम ने अपनी पत्नी की मौत के 17 दिन बाद श्मशान में उसी जगह बबूल के पेड़ से लटककर आत्महत्या कर ली, जहां उसकी पत्नी की चिता जलाई गई थी. दरअसल मनीष और लता की शादी बीते मई माह में ही हुई थी. दोनों पति-पत्नी के बीच बेहद प्यार था. सबकुछ ठीक चल रहा था लेकिन 17 दिन पहले अचानक घर में फिसलकर गिरने से लता की मौत हो गई.

पत्नी की मौत के बाद से ही मनीष काफी परेशान था और लोगों के समझाने के बाद भी लता को नहीं भूल पा रहा था. बताया जाता है कि मनीष रोजाना श्मशान में जाकर पत्नी की फोटो देखकर रोया करता था. बुधवार को भी मनीष फिर से श्मशान गया और वहां जाकर रोने लगा. इसके बाद मनीष ने वहीं पर मौजूद बबूल के पेड़ पर फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली. मृतक ने मरने से पहले एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है.

मनीष ने वाट्सएप पर सुसाइड नोट अपने भाई को भेजा. जिसमें लिखा था कि “मैंने लता को भूलने की पूरी कोशिश की लेकिन मैं उसे भूल नहीं पा रहा हूं. अभी-अभी मेरा घर बसा था, सब ठीक चल रहा था, फिर पता नहीं भगवान को क्या मंजूर था जो उसने ये सब कर दिया. जब मेरा जीवन साथी ही चला गया तो मैं जीकर क्या करूंगा, इसलिए जा रहा हूं.” फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.