नहीं थम रहा डेंगू का प्रसार, यूपी-मप्र में हालात खराब, रोज मिल रहे हैं औसतन सौ मरीज

नई दिल्ली। देश में आज भी कोरोना के प्रसार से जनता पीड़ित है। कोविड के आए दिन 40 हजार की चपेट हर रोज नए मामले आ रहे हैं। उस बीच देश के कई हिस्सों में डेंगू बुखार के कारण चिंता बढ़ गई है। यूपी में किसी संदिग्ध बुखार व डेंगू बुखार की चपेट में आकर 100 से ऊपर लोगों ने दम तोड़ दिया है। वहीं, आसपास के राज्यों में भी बुखार के काफी मामले अचानक से बढ़ गए हैं। इनमें मध्य प्रदेश भी एक है। इन बुखार में बच्चों व बड़े दोनों प्रभावित दिख रहे हैं। वहीं, अस्पतालों में बच्चों के बेड्स ज्यादातर भरे हुए हैं। नए मरीजों को इलाज के लिए जगह मिलने में परेशानी हो रही है।

यूपी के ब्रज क्षेत्र से यह बुखार शुरू हुआ अब राज्य के ज्यादातर जिलों में अपना रंग दिखा रहा है। मथुरा, फिरोजाबाद सहित कानपुर, लखनऊ और मेरठ की तरफ भी आए दिन कई मामले सामने आ रहे हैं, जिनसे अस्पताल भरे हुए हैं। बता दें उत्तर प्रदेश के लोगों को लम्बे समय तक भय के माहौल में रखने वाले कोरोना वायरस संक्रमण के बाद अब बारिश के मौसम में फैलने वाली बीमारी ने घेर लिया है। मेरठ में डेंगू के तेजी से मामले बढ़ रहे हैं। अब तक 52 मरीजों में बीमारी की पहचान की जा चुकी है।

वहीं, भारतीय आयुॢवज्ञान अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) के महानिदेशक डा. बलराम भार्गव ने गुरुवार को दिल्ली में प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि उत्तर प्रदेश के फीरोजाबाद और मथुरा ही नहीं, आगरा जिले में भी डेंगू का प्रकोप है। तीनों जिलों में डेंगू का खतरनाक डी-2 स्ट्रेन पाया गया है। उन्होंने बताया कि अधिकांश मौतें डी-2 स्ट्रेन के कारण ही हुई हैं। वहीं, पूरे ब्रज में डेंगू का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में चार जिलों में 14 लोगों की मृत्यु हो गई। अब तक कुल 171 लोगों की जान जा चुकी है।

मध्य प्रदेश में हर रोज 100 मरीज

एक से आठ सितंबर के बीच प्रदेश में डेंगू बुखार के 788 मरीज मिले हैं। यानी रोज औसतन 100 मरीज मिल रहे हैं। सावधानी रखकर इस बीमारी से बच सकते हैं। डेंगू के वायरस से संक्रमित होने के बाद भी 95 फीसद मरीजों में बीमारी साधारण बुखार के बाद पांच से सात दिन में ठीक हो जाती है। डेंगू के चार तरह के वायरस होते हैं। पिछले साल तक हुई जांच में सभी तरह के वायरस प्रदेश में मिलने की पुष्टि हो चुकी है।

डेंगू को ऐसे पहचानें

-ठंड के साथ तेज बुखार

-सिर, मांसपेशियों और जो़़डो में तेज दर्द

-आंख के पीछे सिर में तेज दर्द

-शरीर में लाल रंग के दाने

बचाव के लिए यह करें

-डेंगू का मच्छर दिन में काटता है, इसलिए फुल कपड़े पहनें

-मच्छरदानी लगाएं।

-खून पतला करने की दवाएं न लें।

-संक्रमित होने पर तीन से चार लीटर तरल चीजें पीएं।

-नाक या मसू़़ढे से खून आए या खून की उल्टी हो तो फौरन डाक्टर को दिखाएं।