देश में अचानक कैसे बढ़ा कोरोना से मौत का आंकड़ा, सामने आई ये चौंकाने वाली वजह

नई दिल्ली: देश में कोरोना के नए मामलों में लगातार गिरावट दर्ज हो रही है और मंगलवार को 31,443 केस दर्ज किए गए जो कि बीते 118 दिन में सबसे कम हैं. इस तरह रिकवरी रेट में भी भारी इजाफा हुआ है और आज यह दर 97 फीसदी से पार रही. इसी तरह कोरोना के कुल मामले भी सिमटकर 4.31 लाख के करीब रह गए हैं जो कि 109 दिन में सबसे कम हैं. लेकिन आज मौत के आंकड़ों ने सबसे चौंका दिया है.

अचानक बढ़ा मौत का आंकड़ा
देशभर में मंगलवार को कोरोना से मौत का आंकड़ा दो हजार के पार चला गया जिसने सबकी चिंता बढ़ा दी. रोजाना हजार के आस-पास दर्ज होने वाले मौत के आंकड़े में अचानक दोगुनी बढ़ोतरी की वजह भी अब साफ हो गई है. इस बढ़े हुए आंकड़े की वजह मध्य प्रदेश है जहां कई दिनों के मौत के आंकड़े को एक साथ जारी किया गया है.

मध्य प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान मौते के आंकड़े को 1,481 बताया गया है जो कि पिछले कुछ दिनों के डाटा को एडजस्ट करते बताया गया है. इसके अलावा महाराष्ट्र में 146 और केरल में 100 लोगों की मौत के आंकड़ें को मिलाकर देशमें कुल मौतों का आंकड़ा 2,020 दर्ज किया गया. वहीं मध्य प्रदेश में कोरोना से अब तक कुल 10,506 लोगों की जान गई है.

MP ने भेजा बैकलॉग का डाटा
इससे पहले 16 जून को दो हजार से ज्यादा मौत का आंकड़ा दर्ज किया गया था. लेकिन आज मध्य प्रदेश की वजह से इस आंकड़े में बड़ी उछाल देखने को मिली क्योंकि राज्य में पिछले दिनों हुई 1478 लोगों की मौत को भी इस डाटा में जोड़ा गया है. सूबे के प्राइवेट हॉस्पिटल और घर में जिन मरीजों की मौत हुई उन्हें जोड़कर बैकलॉग (Backlog) के जरिए ये नया डाटा मिला है. इसके मुताबिक होम आइसोलेशन में 208, निजी अस्पतालों में 762 और अपने गृह जिले से अलग 509 लोगों की मौत हुई है.

मध्य प्रदेश में के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने सोमवार को बताया कि सूबे में कोरोना के हालात काबू में हैं और संक्रमण के नए मामलों में कमी आई है. बीते दिन यहां सिर्फ 18 केस दर्ज किए गए थे और 44 जिलों में कोरोना का एक भी नया केस नहीं आया था.