देश के इन राज्यों में आज से 27 अगस्त तक चलेगा बारिश का दौर, यहां देखें

नई दिल्ली। पिछले कई दिनों से देश की राजधानी दिल्ली समेत कई अन्य राज्यों में जमकर बारिश हो रही है। भारी बारिश के चलते पहाड़ी क्षेत्रों में भूस्खलन की घटनाएं बढ़ गई हैं और नदियां उफान पर हैं। मौसम विभाग के अनुसार देश के कई राज्यों में अभी 27 अगस्त तक बारिश का दौर रहेगा। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बताया कि अगले कुछ घंटों में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ, संभल, सियाना, बहजोई समेत कई क्षेत्रों में गरज के साथ बारिश होने की संभावना है।

इसके साथ ही आइएमडी ने कहा कि सिक्किम, पश्चिम बंगाल, असम और मेघालय सहित पूर्वोत्तर भारत के कुछ हिस्सों में 27 अगस्त तक भारी बारिश होने की संभावना है। इस दौरान बिहार में भी बारिश का दौर जारी रहने की उम्मीद है। पूर्वी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में 27 अगस्त तक बारिश होगी। तमिलनाडु, केरल और महाराष्ट्र के कई हिस्सों में 23, 26 और 27 अगस्त को बारिश होगी। राजस्थान के कई हिस्सों में 27 तारीख तक हल्की बारिश होने की संभावना है व कई अन्य क्षेत्रों में 25 से 27 अगस्त तक शुष्क मौसम रहने की संभावना भी है।

यूपी, हरियाणा के कुछ हिस्सों में होगी बारिश

मौसम की जानकारी देते आइएमडी ने कहा कि अगले कुछ घंटों के दौरान पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश होगी। साथ ही कानपुर और उसके आसपास मंगलवार को बारिश होने की संभावना बनी हुई है। वहीं, हरियाणा के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम तीव्रता की बारिश का अनुमान है।

बिहार के इन जिलों में हो सकती है बारिश

सोमवार को बिहार की राजधानी पटना में जमकर बारिश हुई। वहीं, अब उत्तर बिहार में भारी बारिश की संभावना है। बिहार के खासकर किशनगंज, अररिया, सीतामढ़ी, पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण,मधुबनी, कटिहार, पूर्णिया, सुपौल, गोपालगंज, सिवान एवं सारण में भारी बारिश की उम्मीद है।

दक्षिण-पश्चिमी हवाएं 25 अगस्त तक जारी रहने की हैं संभावनाएं

आइएमडी ने कहा कि मॉनसून ट्रफ का पश्चिमी छोर अपनी सामान्य स्थिति के दक्षिण में और पूर्वी छोर अपनी सामान्य स्थिति के उत्तर में स्थित है। 24 अगस्त से पश्चिमी छोर के धीरे-धीरे उत्तर की ओर शिफ्ट होने की संभावना है और 26 अगस्त से पूर्वी छोर के दक्षिण की ओर शिफ्ट होने की संभावना है। एक चक्रवाती परिसंचरण उत्तर पश्चिमी राजस्थान और निचले क्षोभमंडल स्तरों में स्थित है। बंगाल की खाड़ी से उत्तर-पूर्व भारत की ओर तेज दक्षिण/दक्षिण-पश्चिमी हवाएं 25 अगस्त तक जारी रहने की संभावना है।