देशभर के वाहन मालिकों को मिलेगा सबसे बडा तोहफा, गडकरी का ऐलान, अब हाईवे पर…

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को कहा कि वह एक्सप्रेसवे पर गाड़ी की अधिकतम गति सीमा को 140 किमी प्रति घंटा तक बढ़ाने के पक्ष में हैं। उन्होंने यह भी कहा कि विभिन्न श्रेणियों की सड़कों पर वाहनों की गति सीमा को संशोधित करने के लिए जल्द ही एक विधेयक संसद में पेश किया जाएगा। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने कहा कि गति को लेकर एक मानसिकता है कि अगर कार की स्पीड ज्यादा बढ़ाई गई तो दुर्घटना होगी। उन्होंने ‘इंडिया टुडे कान्क्लेव 2021’ को संबोधित करते हुए कहा, ‘मेरा निजी विचार है कि एक्सप्रेसवे पर वाहनों की गति सीमा बढ़ाकर 140 किमी प्रति घंटा की जानी चाहिए।’

गडकरी ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्गों पर चार लेन वाली सड़कों पर गति सीमा कम से कम 100 किमी प्रति घंटा होनी चाहिए। दो लेन की सड़कों पर गति सीमा 80 किमी प्रति घंटा और शहर की सड़कों पर गति सीमा 75 किमी प्रति घंटा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत में वाहनों की गति सीमा का पैरामीटर बड़ी चुनौतियों में से एक है। कार की स्पीड को लेकर सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के कुछ फैसले हैं, जिसकी वजह से हम कुछ नहीं कर पा रहे हैं।

वाहनों की अधिकतम गति सीमा को संशोधित करने के लिए फाइल तैयार

गडकरी ने कहा कि आज देश में ऐसा एक्सप्रेसवे बन गया है कि उन सड़कों पर कोई जानवर भी नहीं आ सकता क्योंकि सड़क के दोनों ओर बैरिकेडिंग कर दी गई है। उन्होंने कहा कि उन्होंने ‘विभिन्न श्रेणियों की सड़कों के लिए वाहनों की अधिकतम गति सीमा को संशोधित करने के लिए एक फाइल’ तैयार की है। उन्होंने कहा, ‘लोकतंत्र में हमें कानून बनाने का अधिकार है और न्यायाधीशों को कानून की व्याख्या करने का अधिकार है। भारतीय सड़कों पर वाहनों की गति सीमा को संशोधित करने के लिए जल्द ही एक विधेयक संसद में पेश किया जाएगा।