थोड़ी देर में होगा योगी मंत्रिमंडल विस्तार, जानिए कौन कौन लेगा शपथ

लखनऊ। यूपी में करीब चार महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए कैबिनेट विस्तार हो गया है। कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए जितिन प्रसाद सहित सात नेताओं ने मंत्री पद की शपथ ली। जितिन के अलावा, मंत्री पद की शपथ लेने वालों में पलटू राम, संजय गौड़, संगीता बिंद, दिनेश खटिक, धर्मवीर प्रजापति और छत्रपाल गंगवार शामिल हैं।

योगी सरकार का बहुप्रतीक्षित मंत्रिमंडल विस्तार हो गया है। जितिन प्रसाद को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है जबकि पलटू राम, संजय गौड़, संगीता बिंद, दिनेश खटिक, धर्मवीर प्रजापति और छत्रपाल गंगवार राज्यमंत्री बने। शपथ ग्रहण के लिए जितिन प्रसाद सहित सभी नेता राजभवन पहुंच चुके हैं। जितिन प्रसाद कैबिनेट मंत्री बनेंगे जबकि छह अन्य राज्यमंत्री बनेंगे।

राजभवन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा सहित भाजपा के कई पदाधिकारी व मंत्री मौजूद हैं।

शपथ ग्रहण की सारी तैयारियां लगभग पूरी
यूपी में सात नेताओं को राजभवन में आज मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी। शपथ ग्रहण की सारी तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए मंत्रिमंडल विस्तार काफी अहम माना जा रहा है।

कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए जितिन प्रसाद सहित सात मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी। जितिन के अलावा, मंत्री पद की शपथ लेने वालों में पलटू राम, संजय गौड़, संगीता बिंद, दिनेश खटिक, धर्मवीर प्रजापति और छत्रपाल गंगवार शामिल हैं।

भाजपा ने 350 तो सपा ने किया 400 सीट जीतने का दावा
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दावा किया है कि 2022 के चुनाव में भाजपा यूपी में 350 सीटें जीतकर सरकार बनाएगी। वहीं, सपा ने 400 विधानसभा सीटें जीतने की बात कही है।

बूथ मजबूत करने में जुटी पार्टी
भाजपा यूपी चुनाव को पूरी गंभीरता से ले रही है। पार्टी ने बूथों को मजबूत करने का अभियान शुरू कर दिया है। वहीं, चुनाव प्रभारी केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी यूपी में तीन दिन प्रवास किया और चुनावी तैयारियों पर चर्चा की।

बता दें कि आठ जुलाई को हुए केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार में यूपी को खास तवज्जो दी गई थी। जिसमें जातीय गणित पर साधने का प्रयास किया गया था। यूपी से बनाए गए सात नए मंत्रियों में चार ओबीसी, दो दलित और एक ब्राह्मण समाज के थे। मोदी के कैबिनेट में यूपी का मजबूत प्रतिनिधित्व है। यह पहली बार है जब केंद्रीय कैबिनेट में यूपी से रिकॉर्ड 15 मंत्री बनाए गए हैं।