तेज प्रताप बोले- ‘मेरे पिता को दिल्ली में बनाया बंधक, अध्यक्ष बनने का सपना देख रहे कुछ लोग’

पटना। राष्ट्रीय जनता दल में लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव के बगावती सुर अभी भी जारी है। गाहे-बगाहे तेज प्रताप अपने भाई तेजस्वी यादव या उनके समर्थक नेताओं पर हमला बोलते रहते हैं। शनिवार को भी आरजेडी की अंदरूनी कलह एकबार फिर सामने आ गई जब तेज प्रताप यादव ने इशारों ही इशारों में अपने भाई तेजस्वी को ही कटघरे में खड़ा कर दिया। दरअसल, तेज प्रताप ने अपने पिता यानी आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव को बंधक बनाए जाने की आशंका जताई है। हालांकि इस दौरान तेज प्रताप सीधे तौर पर किसी का नाम लेने से बचते नजर आए, लेकिन इतना जरूर कहा कि आप लोग भी जानते होंगे कि वे कौन लोग हैं।

इशारों में तेजस्वी पर साधा निशाना
तेज प्रताप पटना में आयोजित जनशक्ति परिषद की बैठक को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान दौरान उन्होंने तेजस्वी पर इशारों ही इशारों में निशाना साधा। तेज प्रताप ने कहा कि RJD में कुछ लोग राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने का सपना देख रहे हैं, तैयारी में जुटे है, यहां तक कि मेरे पिताजी को दिल्ली में रखे हुए हैं। उनको जेल से निकले हुए महीनों बीत गया है, लेकिन उनको पटना आने नहीं दे रहे हैं।

‘दिल्ली में पिता को बंधक बनाकर रखा है’
पटना में आयोजित छात्र जनशक्ति परिषद की बैठक के दौरान तेजप्रताप यादव ने कहा कि लालू प्रसाद दिल्ली में हैं। मैंने उनसे मिलकर पटना चलने का आग्रह किया। हमने कहा कि हम साथ साथ रहेंगे, लेकिन हमारे पिता को आने नहीं दे रहे हैं। बंधक बना कर रखे हैं दिल्ली में। पिता जी को जेल से बाहर आए हुए साल भर होने जा रहा है।

‘पिता जी यहां रहते थे तो रोज़ आम जनता से मिलते थे’
तेज प्रताप यादव ने कहा कि पिता जी यहां (पटना) रहते थे तो रो आम जनता, जिन्हें वो अपना मालिक कहते हैं, उनसे मिला करते थे। उनकी बातों को सुनते थे। उसका निदान निकालते थे पर कुछ लोग उन्हीं मालिक लोग से जब मिलते हैं तो रस्सी घेर कर मिलते हैं।