जीजा को देख हुई ऐसी मदहोश, बनाने लगी संबंध और भूल गई कि…

हमीरपुर. उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में पुलिस ने 7 साल के बच्चे की गला दबाकर हत्या करने के आरोप में उसकी मां को गिरफ्तार किया है. हमीरपुर जिले के गल्हिया गांव में शनिवार (19 दिसंबर) सुबह सात साल के बच्चे का शव मिला था. पुलिस ने बताया कि बच्चे ने अपनी मां को मौसा के साथ आपत्तिजनक हालत में देख लिया था, जिसके बाद मां ने मासूम की गला घोंटकर हत्या कर दी थी.

पुलिस ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि गल्हिया गांव में 19 दिसंबर को 7 साल के हिमांशु उर्फ रोहित का शव मिला था. इसके बाद बच्चे की मां ने अपने पति पर हत्या का आरोप लगाया था. पुलिस ने कहा कि इस मामले में मामा सतीश की तहरीर पर बच्चे के पिता सुरेश के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया था.

हमीरपुर के पुलिस अधीक्षक (एसपी) नरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि गहराई से छानबीन करने पर पता चला कि बच्चा गुरुवार (17 दिसंबर) को अपने मां पास आया था, जो करीब 5-6 महीने से मायके में रह रही थी. जबकि, बच्चे का पिता गल्हिया गांव आया ही नहीं था.

एसपी नरेंद्र कुमार ने बताया कि महिला के उसके बहनोई से अवैध संबंध थे और इस कारण अक्सर पति के साथ उसका झगड़ा होता था. महिला करीब 5-6 महीने पहले अपने बेटे को पति के पास छोड़कर मायके चली गई थी और तब से वहीं रह रही थी.

पुलिस ने बताया है कि मासूम जब अपने मामा के घर आया, तब उसने अपनी मां को मौसा के साथ आपत्तिजनक हालत में देख लिया और सभी से शिकायत करने की बात कही. इसके बाद महिला ने अवैध संबंध छिपाने के लिए बच्चे की हत्या कर दी.

एसपी ने बताया कि कि बच्चे की मां सर्वेश कुमारी ने पुलिस की पूछताछ में स्वीकार किया कि शुक्रवार शाम बेटे हिमांशु ने उसे और उसके बहनोई को आपत्तिजनक स्थिति में देखकर घर में बता देने की धमकी दी थी. बदनामी के डर से वह बहलाकर बच्चे को पशुबाड़े में ले गई और उसका पहले गला दबाया, फिर बेहोश होने पर पैर से गला तब तक दबाए रही, जब तक उसकी मौत का भरोसा नहीं हो गया.

पुलिस के अनुसार बच्चे की हत्या के बाद महिला ने पति को फंसाने और अवैध संबंध छिपाने के लिए साजिश रची. इसके बाद महिला ने पुलिस को बताया कि उसके पति ने गला दबाकर बच्चे की हत्या कर दी.

एसपी नरेंद्र सिंह ने बताया कि गिरफ्तार महिला और उसका भाई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने से पहले ही बार-बार यह कह रहे थे कि बच्चे का पिता सुरेश ने ‘गला दबाकर’ हत्या की है, जो जांच का अहम बिंदु था. इसके बाद पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में भी ‘गला दबाने’ से मौत की पुष्टि हुई. आखिर पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पहले महिला को कैसे पता कि बच्चे की हत्या ‘गला दबाकर’ की गई है. इसी शब्द की जांच में पुलिस बच्चे के असली कातिल तक पहुंची.

Special for You