गले में सांप लपेटकर पूजा करना महिला को पड़ा भारी, जहरीले सर्प ने कई बार डसा, हुई मौत

चतरा। घर में निकले सांप को भगवान का दूत समझकर गले में लपेटकर पूजा-अर्चना करना एक महिला के लिए जानलेवा साबित हुआ। यह अजीबोगरीब घटना चतरा जिले के हंटरगंज प्रखंड में सोमवार देर शाम को हुई। बताया जाता है कि प्रखंड के कर्मा पंचायत स्थित रक्शी गांव में लालदेव भुईयां की पत्नी रुनिया देवी घर से तैयार होकर शिव चर्चा कार्यक्रम में शामिल होने जा रही थी।

इस दौरान एक जहरीला सांप उसके घर में निकल आया। ग्रामीणों ने बताया कि रुनिया देवी ने सर्प को भगवान शिव का दूत समझकर पकड़ लिया और अपने गले में लपेट लिया। इसके बाद वह सांप के साथ पूजा-पाठ करने बैठ गई। देखते ही देखते गांव में लोगों की भीड़ जमा हो गई। महिला सांप के साथ देर तक शिव चर्चा और भजन-कीर्तन में मगन रही। कुछ गांववाले ढोल बजाकर कीर्तन में उसका साथ देने लगे।

भजन-कीर्तन के दौरान ही सर्प ने महिला को शरीर पर कई जगह डस लिया। हालांकि पूजा-पाठ में लीन महिला और वहां मौजूद लोगों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। धीरे-धीरे जब शरीर में विष का असर बढ़ने लगा तो रुनिया देवी अचेत होकर गिर पड़ी। यह देखकर वहां हड़कंप मच गया।

आनन-फानन में परिजन उसकी झाड़फूंक कराने लगे लेकिन देखते ही देखते महिला के प्राण पखेरू उड़ गए। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि अंधविश्वास में रुनिया देवी की जान चली गई। समय रहते अस्पताल ले जाने पर उसे बचाया जा सकता था।