कोरोना पर चीन ने भारत का किया अपमान, शमशान में जलते शवो पर कह डाली ये बड़ी बात


नई दिल्‍ली: चीनने पिछले दिनों अपने पहले स्थायी अंतरिक्ष केंद्र के लिए मुख्य मॉड्यूल को लांच किया है. चीन का लक्ष्य अगले साल के अंत तक इस अंतरिक्ष केंद्र का निर्माण कार्य पूरा करने का है. चीन के लिए यह बड़ी कामयाबी है. लेकिन इस कामयाबी के बीच चीन ने एक बार फिर अपनी अमानवीय तस्‍वीर पेश की है. चीन ने इस मॉड्यूल के लॉन्‍च होने के समय कोरोना संक्रमणको लेकर भारत का अपमान किया है. हालांकि बाद में विवाद और आलोचना होने पर चीन की ओर से सोशल मीडिया पर किए गए इन अपमानजनक पोस्‍ट को हटा दिया गया.

ब्‍लूमबर्ग क्विंट की रिपोर्ट के अनुसार चीन की टॉप लॉ इंफोर्समेंट संस्‍था ने सोशल मीडिया पर तियांहे नामक इस मॉड्यूल के लॉन्‍च की तस्‍वीरें डाली थीं. इसमें रॉकेट से निकलती आग दिख रही थी. उसने पोस्‍ट में रॉकेट की आग की तुलना भारत में कोरोना वायरस के कारण हो रही मौतों के बाद श्‍मशान घाट में हो रहे शवों के दाह संस्‍कार से कर दी. उसने पोस्‍ट में लिखा, ‘चीन आग लगा रहा है वर्सेज भारत आग लगा रहा है.’

शनिवार को यह पोस्‍ट चीन की कम्‍युनिस्‍ट पार्टी की सेंट्रल पॉलिटिकल एंड लीगल अफेयर्स कमीशन ने सिन वीबो पर आधिकारिक अकाउंट पर डाला. इसमें भारत में कोरोना केस के संबंध में हैशटैग भी था. हालांकि रविवार को यह पोस्‍ट डिलीट कर दिया गया. ऐसा चीनी सोशल मीडिया यूजर्स की ओर से जताई गई नाराजगी के बाद किया गया है.

जब चीन के विदेश मंत्रालय से इस बारे में प्रश्‍न किया गया तो उसने जवाब दिया कि हम आशा करते हैं कि महामारी में भारत की मदद को लेकर सभी लोग चीनी सरकार की ओर ध्‍यान दे रहे होंगे. प्रवक्‍ता ने आगे कहा कि कोरोना से जंग के लिए भविष्‍य में भी भारत को और जरूरी चीजें भेजी जाएंगी.

वहीं चीन सरकार के मुखपत्र ग्‍लोबल टाइम्‍स के एडिटर इन चीफ हू शिजिन ने डिलीट किए गए इस पोस्‍ट पर कमेंट लिखा था, ‘आधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट्स को इस समय मानवीयता को अधिक संवेदना के साथ लेना चाहिए, भारत के प्रति हमदर्दी दर्शानी चाहिए.’

Special for You