कोरोना की तीसरी लहर का सबसे खतरनाक रुप आया सामने, 18 बच्‍चे…

मुंबई। मुंबई समेत पूरे महाराष्‍ट्र में कोरोना संक्रमण के मामलों में एक बार फिर तेजी देखी जा रही है। इस बार बच्‍चों के वायरस से प्रभावित होने के मामले ज्‍यादा आ रहे हैं। रविवार को चेंबूर इलाके में स्थित मानखुर्द चिल्‍ड्रन होम के 18 बच्‍चे कोरोना संक्रमित निकले। इनकी उम्र 9 से 17 साल तक है। इस चिल्‍ड्रन होम में पिछले साल भी करीब 30 बच्‍चे पॉजिटिव पाए गए थे।

चिल्‍ड्रन होम के कोरोना पॉजिटिव बच्‍चों को वाशी नाका स्थित आइसोलेशन सेंटर में रखा गया है। डॉक्‍टर लगातार बच्‍चों के स्‍वास्‍थ्‍य पर नजर बनाए हुए हैं। चिल्‍ड्रन होम प्रबंधन की तरफ से बताया गया कि बच्‍चों का रेगुलर हेल्‍थ चेकअप कराया जाता है। पिछले महीने एक बच्‍चे को रत्‍नागिरि जिले से यहां लाया गया। उस समय उसकी कोरोना जांच पॉजिटिव निकली थी। उसे तब तक आइसोलेशन सेंटर में रखा गया, जब तक वह निगेटिव नहीं हो गया। उस बच्‍चे के शरीर में कोरोना के एक भी लक्षण नहीं बचे, लेकिन कुछ दिन बाद ही कई बच्‍चों में कोरोना के लक्षण दिखने लगे।

102 बच्‍चों की कराई गई जांच
इसके बाद चिल्‍ड्रन होम के 102 बच्‍चों की कोरोना जांच कराई गई। रिपोर्ट आने पर 18 बच्‍चे पॉजिटिव पाए गए हैं। गौरतलब है कि मानखुर्द चिल्‍ड्रन होम में पिछले साल भी 30 बच्‍चे कोरोना संक्रमित पाए गए थे। उस समय चिल्‍ड्रन होम के कुल 269 बच्‍चों की जांच कराई गई थी, जिनमें से 84 में कोरोना के लक्षण पाए जाने पर उनकी कोरोना जांच की गई। जांच में 30 बच्‍चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे।