एक साल तक पत्नी की नहीं लगने दी हवा, ससुर भी करके बैठे रहे भरोसा, होश तो तब उडे जब…

मेरठ। पत्नी की हत्या कर पति अपने परिवार के साथ फरार हो गया। महिला के मायके वालों ने एसएसपी ने शिकायत की। जिसके चलते पति पर हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ है। पुलिस का कहना कि आरोपी के घर पर ताला लगा है, जिसकी तलाश में कई जगह पर दबिश दी। लेकिन अभी उसका सुराग नहीं लगा।

जानकीपुरम सेक्टर-दो लखनऊ निवासी रामचंद्र रविवार को एसएसपी से मिले। रामचंद्र ने कहा कि उनकी बेटी रूबी ने चार साल पूर्व प्रेम-प्रसंग के चलते मेरठ के सरधना मोहल्ला छावनी निवासी कवि दीपक निराला से शादी की थी। दीपक के पिता सराफा कारोबारी थे, जो कि सरधना में रहते थे। चार दिन पहले 21 अगस्त को दीपक का फोन रामचंद्र के मोबाइल पर आया। उसने बताया कि रूबी की एक साल पूर्व मौत हो गई है। इसका पता लगने पर रामचंद्र मेरठ पहुंचे और उन्होंने एसएसपी को इसके बारे में बताया।

एसएसपी ने सीओ सरधना आरपी शाही को कॉल करके निर्देश दिए कि जांच करके कार्रवाई करें। इंस्पेक्टर सरधना बृजेश कुमार पुलिस टीम के साथ कवि दीपक निराला के घर पहुंचे, जहां ताला लगा मिला। बताया कि दीपक निराला के पिता की भी करीब एक साल पहले मौत हो गई।

संपत्ति के बंटवारे को लेकर दीपक ने अपना मकान बदल लिया था। पुलिस वहां भी गई, लेकिन परिवार गायब मिला। सीओ सरधना आरपी शाही के मुताबिक, दीपक और रूबी के एक साल की बेटी भी थी, जिसकी कुछ समय पूर्व मौत हो गई थी। रामचंद्र की तहरीर पर रूबी की हत्या का मुकदमा सरधना थाना में नामजद दीपक निराला व उसके परिवार पर दर्ज हो गया।

पत्नी को ऋषिकेश लेकर गया था दीपक
पुलिस जांच में सामने आया कि दीपक निराला अपनी पत्नी रूबी और परिवार के साथ ऋषिकेश गया था। जहां पर रूबी की संदिग्ध हालत में मौत हो गई और दीपक ने वहीं पर उसका अंतिम संस्कार कर दिया। दीपक ने अपने ससुर रामचंद्र को फोन पर बताया था कि रूबी की बीमारी के चलते ऋषिकेश में मौत हुई है।

एक साल से ससुर को गुमराह करता रहा
रामचंद्र ने बताया कि रूबी का अक्सर उनके पास फोन आता था। एक साल से उसकी कोई कॉल नहीं आ रही थी। दीपक निराला को कई बार रामचंद्र ने कॉल की, लेकिन वह बार-बार उन्हें भ्रमित करता रहा। पुलिस के मुताबिक, रूबी की शादी से परिवार के लोग खुश नहीं थे। शायद यहीं वजह थी कि परिवार के लोग रूबी से फोन पर ज्यादा बात नहीं करते थे।