इन 10 कारणों से अचानक पड़ सकता है हार्ट अटैक, रहें सावधान

दिल की मांसपेशियों तक होने वाली खून की सप्लाई बाधित होने पर एक इंसान को हार्ट अटैक आता है. धूम्रपान, हाई फैट डाइट, डायबिटीज, हाई कॉलेस्ट्रोल, हाई ब्लड प्रेशर या मोटापे को हार्ट अटैक की सबसे बड़ी वजह समझा जाता है.

लेकिन कई और वजहें भी हार्ट अटैक को ट्रिगर कर सकती हैं जिस पर इंसान का ध्यान ही नहीं जाता है. वर्ल्ड हार्ट डे के मौके पर आपको ऐसी 10 वजहों के बारे में बताते हैं.

नींद की कमी- अगर थकान के बाद आप रोजाना पर्याप्त नींद नहीं ले रहे हैं तो हार्ट अटैक का जोखिम बढ़ा सकती है. एक स्टडी के मुताबिक, रात में 6 घंटे से कम सोने वाले लोगों में हार्ट अटैक का खतरा 6-8 घंटे नींद लेने वालों की तुलना में दोगुना होता है. कम सोने से ब्लड प्रेशर और इन्फ्लेमेशन की दिक्कत बढ़ती है.

माइग्रेन- माइग्रेन की समस्या होने पर स्ट्रोक, सीने में दर्द और दिल का दौरा पड़ने की संभावना ज्यादा होती है. अगर किसी को दिल की बीमारी और माइग्रेन दोनों की समस्या है तो उसे माइग्रेन में ली जाने वाली दवा ट्रिपटैन नहीं लेनी चाहिए, क्योंकि ये रक्त वाहिकाओं को संकुचित कर देती है. हालांकि, अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें.

ठंडा मौसम- ठंडे तापमान में रहने की वजह से हमारी धमनियां पतली हो जाती हैं और इसी वजह से वाहिकाओं से दिल तक होने वाली ब्लड सप्लाई में रुकावट पैदा होती है. इसलिए ऐसे मौसम में दिल की मांसपेशियों को गर्म रखने के लिए फिजिकल एक्टिविटी जरूर करनी चाहिए.

ज्यादा खाना- एक बार में बहुत ज्यादा अमाउंट में खाने से शरीर में स्ट्रेस हार्मोन नोरएपिनेफ्रीन रिलीज होता है. ये ब्लड प्रेशर और हार्ट रेट को बढ़ाकर हार्ट अटैक को ट्रिगर करने का काम करता है. दूसरा, बहुत ज्यादा फैट वाला खाना खाने से भी खून में फैट की मात्रा अचानक बढ़ जाती है जो अस्थायी रूप से रक्त वाहिकाओं को डैमेज कर सकता है.

स्ट्रॉन्ग इमोशन- गुस्सा, शोक और तनाव जैसे भाव भी हार्ट से जुड़ी दिक्कतों को ट्रिगर करने के लिए जाने जाते हैं. बहुत ज्यादा खुशी भी अक्सर हार्ट अटैक कारण बन सकती हैं. इसलिए दुख या खुशी के भाव को खुद पर बहुत ज्यादा हावी नहीं होने देना चाहिए.

एक्सरसाइज- वर्कआउट करना हमारे दिल की सेहत के लिए बहुत अच्छा माना जाता है. लेकिन बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करने से भी दिल का दौरा पड़ सकता है. एक्सपर्ट कहते हैं कि करीब 6 प्रतिशत हार्ट अटैक एक्सट्रीम लेवल के फिजिकल एफर्ट की वजह से ही होते हैं.

सेक्स- किसी एक्सरसाइज की तरह सेक्सुअल एक्टिविटी भी हार्ट अटैक के जोखिम को बढ़ावा दे सकती है. ज्यादातर लोगों के लिए सेक्स महत्वपूर्ण और सेहतमंद होना चाहिए. यह जिंदगी का हिस्सा है. लेकिन अगर आपको दिल से जुड़ी कोई समस्या है तो एक बार डॉक्टर से जरूर बात करनी चाहिए.

कोल्ड फ्लू- 2018 की एक स्टडी के अनुसार फ्लू हो जाने के एक हफ्ते बाद लोगों में हार्ट अटैक की संभावना छह गुना ज्यादा बढ़ जाती है. इसकी सही वजह पता नहीं चल पाई है, लेकिन एक्सपर्ट्स का कहना है कि इंफेक्शन से लड़ने के दौरान खून चिपचिपा हो जाता है और इसके थक्के बनने लगते हैं और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है.

कॉफी- एल्कोहल की तरह कॉफी के भी अपने फायदे और नुकसान हैं. इसमें मौजूद कैफीन कम समय के लिए आपका ब्लड प्रेशर बढ़ा देती है और इसी वजह से इंसान को हार्ट अटैक आ सकता है. एक्सपर्ट कहते हैं कि दिन मे दो या तीन कप कॉफी पीने वालों लोगों को कोई खतरा नहीं है.

सुबह बिस्तर से उठना- किसी इंसान को सुबह के वक्त दिल का दौरा पड़ना बहुत सामान्य है. दरअसल हमारा दिमाग शरीर को हार्मोन से भर देता है जिससे हमें जागने में मदद मिलती है. इस वजह से हार्ट पर अतिरिक्त तनाव बढ़ता है. लंबी नींद के बाद आप डिहाइड्रेटेड भी हो सकते हैं, जिससे दिल को ज्यादा मेहनत करनी पड़ सकती है.