आसाराम बापू को लेकर आई ऐसी बुरी खबर! समर्थकों को बड़ा लगा झटका

राजस्थान। (Rajasthan) के जोधपुर (Jodhpur) जिले में सोमवार दोपहर एक मैसेज ने अफवाह मचा दी. पुलिस अधिकारियों के अनुसार मैसेज में लिखा था कि जोधपुर सेंट्रल जेल (Jodhpur Central Jail) में बंद आसाराम (Asaram) की मौत हो गई है. मैसेज के बारे में लोग जेल प्रशासन से जानकारी लेते रहे. वहीं, जेल प्रशासन ने इन अफवाहों की अटकलों पर रोक लगाई है. उन्होंने कहा कि आसाराम बिल्कुल स्वस्थ्य हैं. साथ ही उन्हें कोई परेशानी नहीं है. अभी हाल ही में उनके स्वास्थ्य की जांच एम्स में कराई जा चुकी है.

दरअसल, जोधपुर सेंट्रल जेल में सोमवार की दोपहर में सबसे पहले एक मैसेज आया कि जेल में सजायाफ्ता कैदी आसाराम की मौत हो गई है. फिलहाल इस मैसेज पर लिखा था कि ये पता नहीं है कि यह सूचना सही है या नहीं. इसके बाद से ही ये मैसेज थोड़ी देर में वायरल हो गया. वहीं, जेल DIG ने बताया कि आसाराम एकदम ठीक हैं. वे आराम कर रहे है. उन्होंने लोगों से निवेदन किया कि वे अफवाह पर ध्यान न दें. गौरतलब हैं कि बीते हफ्तें एम्स में हुई जांच में रिपोर्ट सामान्य आई थी. इसके आधार पर वहां के डॉक्टरों ने आसाराम को वापस जेल ले जाने के लिए कहा था.

आजीवन कारावास की सजा भुगत रहे आसाराम
बता दें कि सजायाफ्ता कैदी आसाराम के गुरुकुल में पढ़ने वाली एक नाबालिग छात्रा ने आरोप लगाया कि बीते 15 अगस्त 2013 को आसाराम ने जोधपुर के पास मणाई गांव में स्थित एक फार्म हाउस में उसका यौन शोषण किया गया. वहीं, 20 अगस्त 2013 को उसने दिल्ली के कमला नगर पुलिस स्टेशन में आसाराम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया. जोधपुर जिले का मामला होने के कारण दिल्ली पुलिस ने शिकायत दर्ज कर जांच-पड़ताल करने के लिए उसे जोधपुर भेजा.

हाई कोर्ट कई बार आसाराम की जमानत देने से कर चुका इनकार
इस मामले में जोधपुर पुलिस ने आसाराम के खिलाफ नाबालिग के यौन उत्पीड़न करने का मामला दर्ज किया. वहीं, जोधपुर पुलिस 31 अगस्त 2013 को इन्दौर से आसाराम को गिरफ्तार कर जोधपुर ले आई. उसके बाद से ही आसाराम लगातार जोधपुर जेल में ही बंद है. अप्रैल 2018 में कोर्ट ने उसे इस मामले में दोषी करार देते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. अब तक आसाराम अपनी जमानत के लिए हाई कोर्ट से अब तक करीब 15 बार जमानत लेने का प्रयास कर चुके है. लेकिन अब तक किसी भी कोर्ट ने उन्हें जमानत नहीं दी की.