आधार कार्ड वालों के लिए खतरे की घंटी, बंद हुई यह सर्विस

नई दिल्ली: भारत में आईडी प्रूफ अनिवार्य है। इसके बिना देश में कोई भी महत्वपूर्ण कार्य है जो नहीं किया जा सकता है। ऐसे में आपके लिए जरूरी है कि आप आधार कार्ड से जुड़ी हर जानकारी से अपडेट रहें। इस बीच आधार कार्ड बनाने वाली संस्था ने एक जरूरी सेवा बंद कर दी है। दरअसल, अब पुराने जमाने के लंबे-लंबे आधार कार्ड की रीप्रिंटिंग बंद हो गई है।

दरअसल, पहले आधार कार्ड रीप्रिंट का फॉर्मेट अलग था, जिसे अब यूआईडीएआई ने बदल दिया है। यूआईडीएआई अब पीवीसी आधार कार्ड जारी करता है जो काफी आकर्षक है और डेबिट कार्ड के आकार में छोटा है। यह नया कार्ड आसानी से पॉकेट या वॉलेट में आ सकता है। इससे आधार कार्ड को अपने साथ ले जाना भी आसान हो गया है।

दरअसल, आधार कार्ड हेल्पलाइन से दोबारा प्रिंट करने के संबंध में एक यूजर द्वारा पूछे गए सवाल पर आधार हेल्प सेंटर ने जवाब दिया कि यह सेवा अब बंद कर दी गई है. आप पीवीसी आधार कार्ड को ऑनलाइन मोड के माध्यम से ऑनलाइन ऑर्डर कर सकते हैं। वहीं अगर आप आधार को फ्लेक्सिबल पेपर फॉर्मेट में रखना चाहते हैं तो आप ई-आधार का प्रिंट आउट ले सकते हैं। यहां प्रक्रिया जानें।

पीवीसी आधार कार्ड कैसे बनाये
1. पीवीसी आधार कार्ड बनवाने के लिए सबसे पहले यूआईडीएआई की वेबसाइट uidai.gov.in या रेजिडेंट.uidai.gov.in पर जाएं।
2. इसके बाद ‘माई आधार’ पर क्लिक करें।
3. अब यहां ‘आधार आधार पीवीसी कार्ड’ पर क्लिक करने के बाद आपके बाद एक पेज खुलेगा।
4. इस पर अपना आधार कार्ड नंबर, वर्चुअल आईडी नंबर या रजिस्ट्रेशन नंबर डालें।
5. अब आपको एक कैप्चा कोड या सिक्योरिटी कोड डालना होगा, जो अल्फ़ान्यूमेरिक होगा।
6. यहां आपको एक कॉलम दिखाई देगा जहां लिखा होगा ‘मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड नहीं है’। इसे टिक करें।
7. अब आपने जो भी अल्टरनेटिव नंबर डाला है उस पर ओटीपी आएगा।
8. ओटीपी डालने के बाद आपका आधार रीप्रिंट हो जाएगा।
9. इसके अलावा आप 50 रुपये की फीस देकर इसे घर भी ला सकते हैं।