आजम खान को लेकर आई है ऐसी खबर, दौड़े-दौड़े अस्पताल पहुंचे अखिलेश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व सपा प्रमुख अखिलेश यादव लोकसभा सांसद और पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान को देखने अस्पताल पहुंचे. अखिलेश यादव दिल्ली से लौटकर सीधे मेदांता अस्पताल पहुंचे और उपचार कर रहे चिकित्सकों से मुलाकात कर उनके स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी ली.

मेदांता अस्पताल पहुंचकर आजम खान के स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी लेने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि डॉक्टर्स ने बताया कि इलाज चल रहा है और जितना भी अच्छा इलाज हो सकता है, वो यहां उन्हें दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि आजम खान बहुत जल्दी स्वस्थ हों. बीजेपी पर हमला बोलते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि बीजेपी ने आजम खान को झूठे मुकदमों में फंसाया है और जितना भी परेशान किया जा सकता था, किया गया है. हमें न्यायालय पर पूरा भरोसा है. जल्दी न्यायालय से न्याय मिलेगा और आजम खान हमारे बीच होंगे. उन्होंने साथ ही यह मांग किया कि आजम खान का इलाज तब तक होना चाहिए, जब तक वे स्वस्थ न हो जाएं.

सरकार को नहीं करानी चाहिए थी जासूसी

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी की सरकार को जासूसी नहीं करानी चाहिए थी. जब जनता ने उन पर भरोसा किया, केंद्र में बहुमत की सरकार बनी और यूपी में इतने बड़े पैमाने पर सरकार बनी तब आप किसी व्यक्ति का फोन रिकॉर्ड कर क्या जानना चाहते हैं. इसका जवाब तो देना ही चाहिए. अगर बीजेपी ने कराया है तो यह दंडनीय अपराध है और अगर बीजेपी की सरकार यह कहती है कि उनकी जानकारी में नहीं है तो राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए इससे बड़ा खतरा और क्या होगा कि कोई फोन टैप कर रहा हो और भारत सरकार को जानकारी न हो.

एक दिन पहले मेदांता शिफ्ट किए गए आजम

आजम खान को एक दिन पहले ही सीतापुर जेल से मेदांता हॉस्पिटल शिफ़्ट किया गया है. सांस लेने में दिक़्क़त और कमज़ोरी की शिकायत के बाद आजम खान को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बता दें कि पिछले डेढ़ साल से अधिक समय से आजम खान सीतापुर जेल में बंद हैं और 9 मई को कोरोना पॉजिटिव होने के बाद से उन्हें इलाज के लिए लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल में एडमिट कर दिया गया था. कोरोना से स्वस्थ होने के बाद उनको पोस्ट कोरोना संबंधी कई तरह की स्वास्थ समस्याएं हो रही थीं जिनका इलाज मेदांता हॉस्पिटल में चल रहा था.

मेदांता ने 13 जुलाई को किया था डिस्चार्ज

बीते 13 जुलाई को मेदांता हॉस्पिटल ने उन्हें स्वस्थ्य बताते हुए डिस्चार्ज कर दिया और एक बार फिर उन्हें सीतापुर जेल भेज दिया गया था. लेकिन तबीयत बिगड़ने की शिकायत के बाद एकबार फिर उन्हें मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बता दें कि 72 वर्षीय आजम खान अभी उत्तर प्रदेश की रामपुर लोकसभा सीट से सांसद हैं. वह उत्तर प्रदेश में सपा सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं. आजम खान कई बार रामपुर से ही विधायक भी चुने गए हैं. आजम खान की गिनती समाजवादी पार्टी के प्रमुख मुस्लिम चेहरे में होती रही है, जिनका कद पार्टी में काफी ऊंचा रहा है.