अस्पताल में लगी ऐसी भीषण आग, जिंदा जल गये 50 मरीज

बगदाद। इराक के दक्षिणी शहर न‍सीरिया में एक अस्‍पताल के कोरोना वार्ड में भीषण आग लग जाने से कम से कम 50 लोग जिंदा जल गए हैं और 67 से ज्‍यादा लोग घायल हो गए हैं। आग पर अब काबू पा लिया गया है और राहत बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है। बचावकर्मी अस्‍पताल में जिंदा बचे लोगों की तलाश कर रहे हैं। माना जा रहा है कि मरने वालों की संख्‍या अभी काफी बढ़ सकती है।

अब तक 16 लोगों को अस्‍पताल से निकाला जा चुका है। स्‍थानीय स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी हैदर अल जमीली ने बताया कि यह आग कोरोना वार्ड में लगी है। उन्‍होंने बताया कि पीड़‍ित बुरी तरह से जल गए हैं और लाशों को पहचानने में भी मुश्किल आ रही है। जमीली ने कहा कि कई लोग अभी भी इमारत में फंसे हो सकते हैं। अभी तक आग लगने के ठीक-ठीक कारणों का पता नहीं चल सका है।

अस्‍पताल से कई जले हुए शव निकाले गए
धी कार प्रांत के एक स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी ने बताया कि ऑक्‍सीजन टैंक के अंदर विस्‍फोट के कारण आग लगी। हालांकि बाद में अधिकारियों ने बताया कि आग शार्ट सर्किट की वजह से लगी हो सकती है। एक हेल्‍थ वर्कर ने बताया कि आग की लपटों ने कोरोना वायरस वार्ड के अंदर कई मरीजों को अपनी चपेट में ले लिया। बचावकर्मियों को उन तक पहुंचने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

इस घटना के वीडियो में नजर आ रहा है कि अस्‍पताल से काफी धुआं निकल रहा है। इराक के पीएम मुस्‍तफा अल कादिमी ने इस घटना को देखते हुए मंत्रियों की आपातकालीन बैठक बुलाई है। अस्‍पताल से कई जले हुए शव निकाले गए हैं और धुएं की वजह से लोग खांसते हुए दिखाई दिए। इराकी संसद के अध्‍यक्ष ने आगजनी की घटना के लिए सरकार की आलोचना की है।