असली पैकेट में चल रहा नकली दूध का खेल, इस तरह करें पहचान

मुंबई: पियो ग्लासफुल दूध का विज्ञापन देख देखकर तंदुरुस्त होने का सपना देख रहा इंडिया और शरीर को फिट रखने के रोज 1 ग्लास दूध पर भरोसा करने वाला इंडिया कहीं मिलावट का मरीज तो नहीं बन रहा. फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया के मुताबिक देश में दूध की क्वालिटी सवालों के घेरे में है. त्योहारों का मौसम नजदीक आ रहा है और त्योहारों के इस मौसम में मिलावटखोरों ने भी अपना काम शुरू कर दिया है. मुंबई में फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) की टीम इन दिनों मिलावट के गोरखधंधे पर लगाम कस रही है. इस दौरान टीम को मिलावटी दूध तैयार करने वाले एक ऐसे गिरोह का पता चला जो असली पैकेट में नकली दूध भरते हैं.

अब चल रहा असली पैकेट में नकली दूध का खेल
क्या आप भरोसे के साथ ये कह सकते हैं कि आपके घर में रोजाना आने वाला दूध शुद्ध (Pure Milk) है और उसमें कोई मिलावट नहीं है. हम ये सवाल इस लिए पूछ रहे हैं, क्योंकि मुंबई में FDA ने बड़ी मात्रा में मिलावटी दूध बनाए जाने का भांडाफोड़ किया है, जहां दूध का पैकेट तो असली है लेकिन दूध मिलावटी मिल रहा है. इसके लिए पहले ब्रांडेड कंपनी के पैकेट से दूध को निकाला जाता है और फिर असली दूध में पानी मिलाया जाता है. इसके बाद इन पैकेट्स में नकली दूध या फिर मिलावट वाला दूध भर दिया जाता है.

FDA कर रही नकली दूध के खिलाफ कार्रवाई
FDA ने अब मिलावट करने वाले गिरोहों की धर पकड़ शुरू कर दी है. हाल ही में एक शिकायत पर महाराष्ट्र के मलाड के झोपड़पट्टी इलाके पर रेड करके टीम ने मिलावट वाला 88 लीटर दूध एक घर से पकड़ा. इसके बाद दूसरा छापा गोवड़ी इलाके में किया गया. हालांकि यहां जो दूध पकड़ा गया, उसका सैंपल जांच के लिए भेजा गया है. ब्रांडेड दूध में पानी मिलाने मामले की जांच के लिए पिछले 2 महीने के दौरान FDA ने 16 स्थानों पर छापा मारा है. इन सभी स्थानों पर दूध की थैली को काटकर उसमे पानी भरा जाता था. इस कार्रवाई में 2 हजार 318 लीटर पानी मिला हुआ दूध नष्ट किया गया.

जांच-परखकर ही खरीदें दूध
मिलावटी दूध के ऐसे गोरखधंधों पर FDA लगातार कार्रवाई कर रहा है. हालांकि अभी ना जाने कितने और गिरोह और ना जाने नकली दूध (Adulterated Milk) का कितना ही बड़ा कारोबार पकड़ा जाना बाकी है. इस पूरी मुहिम में लोगों का सहयोग भी बेहद जरूरी है, इसलिए FDA ने भी अपनी ओर से शिकायतों के लिए टोल फ्री नंबर जारी कर दिया है. इसलिए आप भी अपनी ओर से पूरी सावधानी रखिए और जांच परख कर ही दूध खरीदें.

ऐसे पहचानें मिलावटी दूध
दूध (Milk) में ज्यादातर स्टार्च की मिलावट होती है, ताकि दूध को गाढ़ा बनाया जा सके. इसकी पहचान के लिए दूध को 2 बर्तनों में थोड़ा-थोड़ा उबालें. उबालने के बाद दूध में थोड़ा आयोडीन मिलाएं. अगर आयोडीन नहीं है तो आयोडाइज्ड नमक मिलाएं. अगर रंग नहीं बदला तो दूध शुद्ध (Pure Milk) है और दूध में नीला रंग आया तो स्टार्च मिला है.

दूध में पानी की ऐसे करें पहचान
दूध (Milk) में पानी मिलाने के भी मामले सामने आए हैं. पानी की पहचान के लिए चिकनी सतह पर दूध की कुछ बूंदें गिराएं. अगर दूध बगैर निशान छोड़े तेजी से आगे बहे तो मिलावट है. अगर धीरे-धीरे बहे व सफेद धब्बा छोड़े तो दूध असली (Pure Milk) है.

मिलावटी दूध के नुकसान
मिलावटी दूध (Adulterated Milk) पीने से कई तरह के नुकसान हो सकते हैं. इनमें पेट खराब होना, पेट में एंठन और अपच, कब्ज और हैजा, एलर्जी, टाइफाइड, पीलिया, अल्सर और डायरिया का खतरा है. छोटे बच्चों के लिए मिलावटी दूध बेहद हानिकारक है.