अमेरिका ने किया बडा राकेट हमला, उडा दिये ISIS के दो खूंखार आतंकी

काबुल: अमेरिका ने काबुल (Kabul) में संदिग्ध ISIS-K आतंकवादियों को निशाना बनाते हुए एयरस्ट्राइक (Kabul Airstrike) को अंजाम दिया है. इस हमले को पहले आतंकी हमला समझा जा रहा था लेकिन रूसी मीडिया के हवाले से दावा किया जा रहा है कि काबुल के हवाई अड्डे के उत्तर-पश्चिम में आज अमेरिका ने रॉकेट हमला किया. इस एयरस्ट्राइक में दो लोगों की मौत होने की सूचना है.

सुसाइड कार बॉम्बर को निशाना बानाया

इस मिलिट्री स्ट्राइक को लेकर अमेरिकी अधिकारियों ने कहा है कि एक सुसाइड कार बॉम्बर को निशाना बानाते हुए रॉकेट से निशाना साधा गया था. ये सुसाइड कार बॉम्बर काबुल एयरपोर्ट पर ब्लास्ट करना चाहता था. इससे पहले तालिबान (Taliban) ने भी यही कहा कि एक बड़े फिदायीन हमले को रोकने के लिए अमेरिका की तरफ से ये कार्रवाई की गई है.

कार में था काफी मात्रा में विस्फोटक
यूएस सेंट्रल कमांड के प्रवक्ता बिल अर्बन ने एयरस्ट्राइक की पुष्टि करते हुए कहा, जिस कार को निशाना बनाया गया उसमें हुए ब्लास्ट से अंदाजा लगाया जा रहा है कि कार में काफी मात्रा में विस्फोटक सामग्री थी. फिलहाल नागरिकों की मौत का आंकलन किया जा रहा है.

पहले समझा गया आतंकी हमला
बता दें, अफगानिस्तान (Afghanistan) में फंसे लोगों को निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन के बीच काबुल एयरपोर्ट (Kabul Airport) के पास रॉकेट से हमला हुआ था. इसे आतंकी हमला माना जा रहा था. इस हमले का एक वीडियो भी सामने आया जिसमें एक घर से धुंआ उठता हुआ देखा गया. इसी हमले को लेकर रूसी मीडिया ने दावा किया कि ये अमेरिका की एयरस्ट्राइक थी. अमेरिकी अधिकारियों और तालिबान ने भी इसे मिलिट्री ऑपरेशन माना है.

अमेरिका ने पहले ही दी थी चेतावनी
इस हमले में दो लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है, जबकि 3 घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. हालांकि नुकसान का अंदाजा भी नहीं लगाया जा सका है. लेकिन इस हमले से अफगानिस्तान में फंसे लोगों में डर बढ़ने लगा है. खास बात ये है कि रविवार सुबह को ही अमेरिका ने काबुल एयरपोर्ट के पास ब्लास्ट की चेतावनी दी थी और एयरपोर्ट के गेट का जिक्र किया, और अब एयरपोर्ट के उसी नॉर्थ गेट के पास अमेरिका ने रॉकेट से निशाना साधा.