अभी अभीः लखीमपुर समझौता कराकर घिरे राकेश टिकैत, टिविटर पर पूछ रहे लोग: क्या पैसे से…

नई दिल्ली। लखीमपुर खीरी मामले में सरकार के साथ समझौता कराने में सफल रहे भारतीय किसान यूनियन के नेता और कृषि बिलों के विरोध में किसान आंदोलन के अगुवा चौधरी राकेश टिकैत सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गये है। टिविटर पर लोग अब समझौते को लेकर सवाल पूछ रहे है।

लखमपुर खीरी में हुई घटना पूरे देश में चर्चा का विषय बनी हुई है। पूरे देश के नेता चाहे वो किसी भी पार्टी का हो लखमपुर खीरी की ओर दौड रहा है। इस बीच घटना के 24 घंटे के अंदर ही भाकियू नेता और किसान आंदोलन के अगुवा राकेश टिकैत ने इस मामले में समझौता कराकर मामला शांत कर दिया। लखीमपुर खीरी में शांति बहाली की कोशिश ही अब किसान नेता राकेश टिकैत के लिये मुसीबत का सबब बनती साबित हो रही है। सोशल मीडिया पर लोग तरह-तरह के पोस्ट करके सवाल पूछ रहे है। टिविटर पर समझौते को लेकर राकेश टिकैत की भूमिका पर तरह-तरह के सवाल हो रहे है।

आप नीचे ऐसे ही कुछ टिविट देख सकते है:=