अभी अभीः लखीमपुर कांड पर योगी सरकार का सबसे बडा ऐक्शन, यूपी पुलिस ने…

लखीमपुर खीरी। यूपी के लखीमपुर खीरी में बीते दिन हुई हिंसक झड़प के बाद केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई है. रविवार को लखीमपुर खीरी में उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को एक कार्यक्रम में शामिल होना था, जिसके पहले बवाल हो गया. कुल आठ लोगों की मौत हो गई. घटना के फौरन बाद इलाके में इंटरनेट बंद कर दिया गया.

जानकारी के अनुसार, इस मामले में अजय मिश्रा के बेटे आशीष के खिलाफ तिकोनिया थाने में एफआईआर दर्ज हुई है. बता दें कि आरोप लगाया गया है कि जिस समय किसान प्रदर्शन करने गए थे, उसी वक्त गाड़ी ने उन्हें रौंद दिया. इस दौरान, चार किसानों की मौत हो गई, जबकि हिंसा में कुल आठ लोगों की जान गई है.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा ने इन आरोपों से इनकार किया कि उनके बेटे आशीष मिश्रा गाड़ी चला रहे थे. अजय मिश्रा ने कुछ असामाजिक तत्वों को जिम्मेदार ठहराया. अजय मिश्रा ने कहा, “हमारे कार्यकर्ता हमारे मुख्य अतिथि के स्वागत के लिए गए थे और मैं उनके साथ था. उसी समय, कुछ असामाजिक तत्वों ने काफिले पर हमला किया, जिसमें कार का चालक घायल हो गया और उससे संतुलन बिगड़ गया.”

उनके बेटे के कार चलाने के आरोपों पर उन्होंने कहा, “कार्यक्रम खुले में आयोजित किया गया था और कार्यक्रम के दौरान प्रशासन और पुलिस कर्मियों सहित हजारों लोग मौजूद थे. उन्होंने आगे कहा कि हमारे तीन कार्यकर्ता और एक ड्राइवर की मौत हो गई है और गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया. हम भी इस मामले में एफआईआर दर्ज करवाएंगे. हमारे पास पूरे वीडियो हैं. धारा-302 के तहत जो भी इस मामले में शामिल होगा, उनके मामला दर्ज करवाया जाएगा.

आशीष मिश्रा ने की मामले की न्यायिक जांच की मांग

केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष ने भी अपने ऊपर लगे आरोपों को झूठा बताया है. उन्होंने कहा कि मैं कार्यक्रम के अंत तक सुबह नौ बजे से बनवारीपुर में था. मेरे खिलाफ आरोप पूरी तरह से निराधार हैं और मैं इस मामले की न्यायिक जांच की मांग करता हूं. दोषियों को सजा मिलनी चाहिए. उन्होंने आगे कहा, ”हमारी 3 गाड़ियां एक कार्यक्रम के लिए उप-मुख्यमंत्री की अगवानी करने गई थीं. रास्ते में कुछ बदमाशों ने पथराव किया, कारों में आग लगा दी और हमारे 3-4 कार्यकर्ताओं को लाठियों से पीटा.”