अभी अभीः राम रहीम को लेकर आई बेहद बुरी खबर, एम्स अस्पताल में…

रोहतक। साध्वी यौन शोषण के मामले में 20 साल की सजा काट रहे डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की तबीयत मंगलवार को एक बार फिर बिगड़ गई। जेल प्रशासन की ओर से मंगलवार सुबह करीब साढ़े 5 बजे गुरमीत राम रहीम को दिल्ली के एम्स अस्पताल में ले जा गया। दोपहर को उसकी एमआरआई करवाई गई। जिला पुलिस की विशेष टीम भी डीएसपी शमशेर के नेतृत्व में साथ गई है।

राम रहीम को 2017 में दो साध्वियों के यौन शोषण के मामले में पंचकूला स्थित सीबीआई की विशेष अदालत ने 20 साल की सजा सुनाई थी। उस दिन पंचकूला में हिंसा भी हुई थी। सुरक्षा के चलते प्रदेश सरकार ने राम रहीम को रोहतक की सुनारिया जेल में हेलीकॉप्टर से भेजा था। तभी से राम रहीम जिला जेल में बंद है।

इससे पहले जून माह में राम रहीम की तबीयत बिगड़ गई थी। पीजीआई के डॉक्टरों के विशेष पैनल से उसकी जांच करवाई गई। जांच के बाद वापस सुनारिया जेल भेज दिया गया। 6 जून को दोबारा राम रहीम की तबीयत बिगड़ गई जिसके बाद उसे गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल ले जाया गया, जहां कोरोना की जांच करवाई गई। जांच में वह पॉजिटिव पाया गया। हालांकि एक दिन बाद ही रिपोर्ट निगेटिव आ गई। तीन-चार दिन मेदांता में दाखिल रहने के बाद उसको सुनारिया जेल लाया गया था।

सूत्रों के अनुसार मंगलवार सुबह राम रहीम ने सिर व पेट में दर्द की शिकायत की। जेल प्रशासन ने उन्हें दिल्ली के एम्स अस्पताल में दाखिल कराया। जहां प्राइवेट रूम में एमआरआई करवाई गई। शाम तक रिपोर्ट आने की संभावना है।

दो माह में पांच बार सुनारिया जेल से बाहर आ चुका है राम रहीम
– 12 मई को ब्लड प्रेशर लो होने पर पीजीआईएमएस पहुंचे
-17 मई को 12 घंटे की पैरोल पर मां से मिलने आया था गुरुग्राम
– 03 जून  को पेट में दर्द होने पर अल सुबह पीजीआई में उपचार के लिए पहुंचे
– छह जून को मेदांता गुरुग्राम में उपचाराधीन
– 13 जुलाई को सिर और पेट दर्द के बाद दिल्ली एम्स में ले जाया गया