अभी अभीः बिगडते हालातों के बीच देश के इन 5 राज्यों को केंद्र ने जारी की चेतावनी, आज रात से…

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच केंद्र सरकार ने पांच राज्यों को चिट्ठी लिखकर कोरोना वायरस के बढ़ते केस की रोकथाम और साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट पर लगाम लगाने के लिए जरूरी कदम उठाने को कहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने शनिवार को इस मामले में कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, ओडिशा और मिजोरम के साथ ही केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर को भी आगाह किया है।

भूषण ने कहा, इन पांच राज्यों में टेस्टिंग, ट्रैकिंग और वैक्सीनेशन को लेकर आगे की रणनीति बनाने की जरूरत है। साथ ही कोरोना के प्रसार और इससे जुड़ी मौतों को रोकने के लिए कोविड के उचित नियमों का पालन भी किया जाए। भूषण ने चिट्ठी में कहा है कि कोरोना से जुड़ी मौतों और इसके नए मामलों को रोकने के लिए मौजूद टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट-वैक्सीनेट-कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर स्ट्रैटजी के तहत कदम उठाए जाने की जरूरत है।

भूषण ने इन पांच राज्यों से उस चिट्ठी पर भी ध्यान देने को कहा है जो उन्होंने ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच 27 नवंबर को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखी थी। उन्होंने उस समय सभी राज्यों को अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की जांच और सर्विलांस में तेजी लाने, उभरते हॉटस्पॉट की निगरानी और संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों को तत्काल ट्रैक करने जैसे कुछ सुझाव दिए थे।

राजेश भूषण ने बताया कि केरल में दिसंबर 3 तक के मुताबिक, एक महीने के अंदर 1 लाख 71 हजार 521 मामले आए। बीते एक महीने में देशभर में आए कोरोना के नए केसों में से 55.8 फीसदी केरल से हैं। उन्होंने बताया कि केरल में 26 नवंबर तक के हफ्ते की तुलना में 3 दिसंबर को खत्म हुए हफ्ते के दौरान मौतें भी कुछ बढ़ी हैं। पहले हफ्ते में जहां 1890 मौतें हुईं तो वहीं, दूसरे हफ्ते में 2118। थिरुसुर, मलप्पुरम, कोझिकोड और कोल्लम ऐसे जिले हैं, जहां एक सप्ताह में सबसे ज्यादा मौतें दर्ज की गईं।

तमिलनाडु
तमिलनाडु में 3 दिसंबर तक के एक माह में 23 हजार 764 नए केस दर्ज किए गए। वेल्लोर और चेन्नई में बीते हफ्ते साप्ताहिक नए मामलों में भी इजाफा देखा गया है।

मिजोरम
4 दिसंबर तक के आंकड़ों में एक माह के अंदर राज्य में कोरोना के 12 हजार 562 नए केस आए। एक महीने में भारत के अंदर आए कुल कोरोना केसों में से 4.1 फीसदी मिजोरम से थे। आइजॉल जिला सबसे ज्यादा प्रभावित रहा।

कर्नाटक
भूषण ने कर्नाटक के प्रिंसिपल हेल्थ सेक्रटरी को लिखी चिट्ठी में राज्य में कोरोना के बढ़ते नए केस के बारे में जिक्र किया है। 16 नवंबर को खत्म हुए सप्ताह में जहां यह संख्या 1 हजार 664 थी, तो वहीं 3 दिसंबर को खत्म हुए हफ्ते में यह आंकड़ा 2 हजार 272 हो गया है। वहीं, इस दौरान मौतें भी 22 से बढ़कर 29 हो गईं।

ओडिशा
राज्य में एक माह के अंदर में 7 हजार 445 नए केस दर्ज किए गए और देश में आने वाले कुल मामलों में से 2.5 फीसदी ओडिशा से ही थे। राज्य का खोर्द्धा जिला है जबां सबसे ज्यादा साप्ताहिक मामले (900 नए केस) दर्ज किए गए। वहीं, 30 में से 6 जिले- ढेनकनाल, कंधमाल, नबरंगपुर, केंदुझार, अनुगुल और बालांगीर में 26 नवंबर को खत्म हुए सप्ताह की तुलना में 3 दिसंबर को खत्म होने वाले सप्ताह में एक्टिव केसलोड भी बढ़ा है।

जम्मू और कश्मीर
भूषण के मुताबिक, 3 दिसंबर को खत्म हुए महीने में केंद्र शासित प्रदेश के अंदर कुल 4 हजार 806 नए कोरोना मामले आए हैं। कठुआ, जम्मू, गंदेरबाल और बारामूला जैसे कुछ जिले ऐसे हैं, जहां पिछले हफ्ते की तुलना में नए मामले बढ़े हैं।