अभी अभीः पीएम मोदी ने रच दिया इतिहास, पूरे देश के लिये गर्व की घडी, यहां देंखे

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंतरराष्टीय मंच पर एक और इतिहास रचने जा रहे हैं. देश की आजादी के बाद पहली बार कोई भारतीय प्रधानमंत्री संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक की अध्यक्षता करने वाले हैं. संयुक्त राष्ट्र में भारत के पूर्व स्थायी प्रतिनिध सैयद अकबरुद्दीन ने रविवार को ये जानकारी दी. बता दें कि आज यानी एक अगस्त से भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की कमान संभाला रहा है. इस दौरान भारत तीन प्रमुख क्षेत्रों समुद्री सुरक्षा, शांतिरक्षण और आतंकवाद को रोकने संबंधी विशेष कार्यक्रमों की मेजबानी करने के लिए तैयार है.

संयुक्त राष्ट्र में भारत के पूर्व स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दी के मुताबिक 9 अगस्त को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक की अध्यक्षता पीएम मोदी कर सकते हैं. बता दें कि 75 साल में ये पहला मौका है जब कोई भारतीय प्रधानमंत्री संयुक्त राष्ट्र के 15 सदस्यीय निकाय के एक कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे. सैयद अकबरुद्दी ने ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘हमारे प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी पहले भारतीय प्रधान मंत्री होंगे, जिन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक की अध्यक्षता करने का फैसला किया है. इससे ये साबित होता है कि हमारे लीडर अब फ्रंट से लीड करना चाहते हैं.’

सैयद अकबरुद्दीन का ट्वीट
कई उच्च स्तरीय बैठकों की अध्यक्षता प्रधानमंत्री, विदेश मंत्री एस जयशंकर और विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला सहित भारत के शीर्ष अधिकारी करेंगे. सैयद अकबरुद्दी ने कहा, ‘ ये यूएनएससी पर हमारा आठवां कार्यकाल है, फिर भी 75 वर्षों में ये पहली बार है जब हमारे राजनीतिक नेतृत्व ने सुरक्षा परिषद के किसी कार्यक्रम की अध्यक्षता करने में दिलचस्पी दिखाई है.’

सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के तौर पर भारत का दो साल का कार्यकाल एक जनवरी, 2021 को शुरू हुआ था. अगस्त की अध्यक्षता सुरक्षा परिषद के गैर स्थायी सदस्य के तौर पर 2021-22 कार्यकाल के लिए भारत की पहली अध्यक्षता होगी. भारत अपने दो साल के कार्यकाल के आखिरी महीने यानी अगले साल दिसंबर में फिर से परिषद की अध्यक्षता करेगा. अपनी अध्यक्षता के दौरान, भारत तीन बड़े क्षेत्रों – समुद्री सुरक्षा, शांतिरक्षण और आतंकवाद रोकथाम के संबंध में तीन उच्च स्तरीय प्रमुख कार्यक्रमों का आयोजन करेगा.