अभी-अभीः पीएम मोदी क्यों बढाए चले जा रहे हैं अपनी दाढ़ी, खुल गया राज-यहां देखें

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दाढ़ी इन दिनों सोशल मीडिया पर तो चर्चा में है ही, साथ ही यह राजनितिक गलियारों में भी सुर्ख़ियों में बनी हुई है। हर कोई यह जानना चाह रहा है कि, आखिर पीएम मोदी अपनी दाढ़ी इतनी क्यों बढ़ा रहे हैं? जैसा कि, प्रधानमंत्री मोदी ने लॉकडाउन के बाद से ही अपना लुक बदल लिया है और वह लगातार अपने लुक को लेकर चर्चा में भी हैं। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे है कि आखिर पीएम मोदी का लुक इतना कैसा बदल गया?

दरअसल पीएम मोदी की दाढ़ी को लेकर हर कोई अलग-अलग दलीलें दे रहा है। एक दलील यह भी है कि देश में फैली महामारी कोविड 19 के चलते पीएम मोदी किसी व्यक्ति को भी अपने नजदीक नहीं आने देना चाहते हैं। इतना ही नहीं बल्कि हर रोज की मुलाकात वह 6 फीट की दूरी पर ही करते हैं। कहा जा रहा है कि, न सिर्फ दूर के लोग बल्कि उनके नजदीकी भी उनसे नहीं मिल सकते।

खबर है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सबसे खास मित्र गृह मंत्री अमित शाह और प्रधान सचिव पीके मिश्रा या कोई भी उच्च अधिकारी उनके करीब नहीं जा सकता। इतना ही नहीं बल्कि प्रधानमंत्री के सरकारी आवास पर काम करने वाले लोग भी उनसे दूर ही रहते हैं। यह सारे कर्मचारी दूर रहकर ही अपना सारा काम निपटा रहे हैं। इसके अलावा पीएम मोदी की सुरक्षा में रहने वाले एसपीजी को भी करीब 6 फुट की दूरी वाला नया सुरक्षा फॉर्मेट बनाना पड़ा।

ऐसे में यदि बात की जाए उनकी दाढ़ी की तो दाढ़ी छोटी करवाने के लिए किसी नाई की जरुरत होगी और किसी भी नए व्यक्ति को अपने निकट आने देना मतलब संक्रमण को अपने पास निमंत्रण देना। ऐसे में पीएम मोदी का मानना है कि दाढ़ी बढ़ती है तो बढ़ने दीजिए और दूर रहकर ही अपना काम करना सही है। वहीं कुछ लोगों का मानना है कि, दाढ़ी बढ़ाने के पीछे मोदी जी का कोई देवीय सहायता है और उन्होंने यह मनौती ली है कि जब तक कोरोना महामारी देश से दूर नहीं चली जाती है वह अपनी दाढ़ी नहीं कटवाएंगे।

जानकारी के लिए बता दें कि, अभी तक उनके दाढ़ी बढ़ाने की वजह के बारे में कोई ठोस जानकारी सामने नहीं आई है। पिछले कुछ महीनों में उनकी दाढ़ी और ज्यादा बढ़ चुकी है। ऐसे में लोग तरह-तरह के तर्क लगा रहे हैं। कई लोग प्रधानमंत्री की दाढ़ी को रविन्द्रनाथ टैगोर से जोड़कर देखते हैं तो कुछ लोग इस पर व्यंग्य भी कसते नजर आते हैं।