अभी अभीः कोरोना पर देशभर के लिये बुरी खबर, 13 राज्यों के लिये अलर्ट जारी

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना संक्रमण के मामले कम होने के बाद फिर बढ़ने शुरू हो गए हैं। पिछले 9 दिनों का डेटा देखें तो मृत्यु दर में 121% तक बढ़ोतरी हुई है। 15 नवंबर को देशभर में 197 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई थी तो वहीं 23 नवंबर को यह बढ़कर 437 तक पहुंच गई।

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका ने केंद्र सरकार को भी अलर्ट कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को 13 राज्यों को चिट्‌ठी लिखकर कोरोना टेस्टिंग की घटती तादाद पर चिंता जाहिर की है।

कर्नाटक में 66 स्टूडेंट कोरोना पॉजिटिव मिले
उत्तराखंड के देहरादून में फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट (FRI) में 11 IFS अधिकारी पॉजिटिव मिले हैं। इसके बाद 48 अधिकारियों को आइसोलेट कर दिया गया है। वहीं, कर्नाटक के धारवाड़ के SDM मेडिकल कॉलेज में 66 स्टूडेंट कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। सभी फुली वैक्सीनेटेड हैं। 400 छात्रों वाले इस कॉलेज की बिल्डिंग के साथ ही 2 हॉस्टल भी सील कर दिए गए हैं। 300 छात्रों की कोरोना रिपोर्ट आ चुकी है। 100 की रिपोर्ट आनी बाकी है।

धारवाड़ के डिप्टी कमिश्नर नितेश पाटिल ने बताया कि करीब एक हफ्ते पहले कुछ स्टूडेंट एक प्रोग्राम में शामिल हुए थे। उन छात्रों का कोरोना टेस्ट करने पर सभी पॉजिटिव पाए गए हैं। उनके प्राइमरी और सेकेंडरी कॉन्टैक्ट तलाशे जा रहे हैं।

बंगाल में पॉजिटिविटी रेट बढ़ने पर चिंता जताई
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने चिट्‌ठी में कहा है कि अगर टेस्टिंग में कमी की गई तो संक्रमण का सही आकलन नहीं किया जा सकेगा। चिट्‌ठी में कहा गया है कि पिछले कुछ दिनों के अंदर बंगाल सहित कई राज्यों में पॉजिटिविटी रेट भी बढ़ रहा है।

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने पत्र में लिखा कि टेस्टिंग ठीक से नहीं की गई तो लोगों में संक्रमण फैलने का सही अनुमान लगाना मुश्किल होगा। उन्होंने बंगाल के स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव स्वरूप निगम को पत्र लिखकर कहा कि जून 2021 तक एवरेज 67,644 टेस्ट किए जा रहे थे। इन्हें अब घटाकर 22 नवंबर तक 38,600 टेस्ट रोजाना कर दिया गया है।

एंटीजन टेस्ट की जगह RT-PCR पर ध्यान दें
भूषण ने पत्र में आगे लिखा कि बंगाल में इस वक्त पॉजिटिविटी रेट 2.1% है। पिछले 4 हफ्तों में यह सबसे ज्यादा है। कई जिलों में पॉजिटिविटी रेट बढ़ रहा है। इनमें दार्जिलिंग, दक्षिण दिनाजपुर, हावड़ा, पश्चिम 24 परगना, दक्षिण 24-परगना, जलपाईगुड़ी और कोलकाता शामिल हैं। उन्होंने यह भी लिखा कि एंटीजन टेस्ट की जगह RT-PCR टेस्ट पर ज्यादा ध्यान दिया जाना चाहिए।

इन राज्यों को भी लिखी चिट्‌ठी
स्वास्थ्य मंत्रालय ने बंगाल के अलावा गोवा, जम्मू और कश्मीर, केरल, लद्दाख, महाराष्ट्र, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, पंजाब, राजस्थान और सिक्किम को भी पत्र लिखा है। केरल को लिखे गए पत्र में मंत्रालय ने कहा है कि राज्य अगस्त में 2.96 लाख कोरोना टेस्ट कर रहा था, जिसे घटाकर अब 56 हजार कर दिया गया है।

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री का दावा- दिसंबर में आएगी थर्ड वेव
महाराष्ट्र में कोरोना महामारी की तीसरी लहर दिसंबर में आ सकती है। यह बात राज्य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री राजेश टोपे ने बुधवार को कही। उन्होंने कहा कि राज्य में तीसरी लहर तो आएगी, लेकिन वह सेकेंड वेव जैसी नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि राज्य में वैक्सीनेशन ज्यादा है इसलिए तीसरी लहर हल्की रहेगी। थर्ड वेव के दौरान मेडिकल ऑक्सीजन और आईसीयू बेड की जरूरत नहीं होगी। वहीं, एक्सपर्ट्स का भी दावा है कि लहर समय-समय पर अपनी निश्चित फ्रीक्‍वेंसी में आती हैं। पहली वेव सितंबर 2020 में आई थी। दूसरी लहर अप्रैल 2021 में आई थी। अब तीसरी लहर दिसंबर में आने की आशंका है।

महाराष्ट्र में स्कूल खोलने की तैयारी
स्वास्थ्य मंत्री के थर्ड वेव की चेतावनी देने के अगले दिन महाराष्ट्र सरकार ने स्कूल खोलने की तैयारी शुरू कर दी है। गुरुवार को राज्य की शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा कि मुख्यमंत्री ने कैबिनेट की मीटिंग में चर्चा करने के बाद स्कूल खोलने का फैसला लिया है। मंत्री ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में कक्षा 1 से कक्षा 4 तक और शहरी क्षेत्रों में कक्षा 1 से कक्षा 7 तक स्कूल 1 दिसंबर से खोल दिए जाएंगे।