अभी अभीः कोरोना की तीसरी लहर पर पीएम मोदी का बडा ऐलान, 16 जुलाई को फिर…

नई दिल्ली. देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का असर कम हुआ है, लेकिन पूर्वोत्तर के राज्यों में इस पर अभी काबू नहीं पाया जा सका है। बल्कि यहां केस बढ़ रहे हैं। इसी चिंता को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पूर्वोत्तर राज्यों के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की। उन्होंने हालात का जायजा लिया। बैठक में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी मौजूद थे।

पहले ये जानें-16 जुलाई को इन राज्यों की समीक्षा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 जुलाई को सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, ओडिशा, महाराष्ट्र, केरल के मुख्यमंत्रियों के साथ राज्यों में कोविड की स्थिति पर चर्चा करेंगे।

आज की मीटिंग में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा
हिल स्टेशन और बाज़ारों में बिना मास्क और प्रोटोकॉल का पालन किए बिना भारी भीड़ का उमड़ना चिंता का विषय है।

हमें टेस्टिंग और ट्रीटमेंट से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार करते हुए आगे चलना है। इसके लिए हाल ही में कैबिनेट ने 23 हज़ार करोड़ रु. का एक नया पैकेज भी स्वीकृत किया है। नॉर्थ ईस्ट के सभी राज्यों को इस पैकेज से अपने हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को मज़बूत करने में मदद मिलेगी।

हमें कोरोना वायरस के हर वेरिएंट पर नज़र रखनी होगी क्योंकि ये बहरूपिया है। रोकथाम और उपचार बहुत जरूरी है, इन दोनों से जुड़े उपायों पर ही हमें हमारी पूरी शक्ति लगानी है।

पूर्वोत्तर के कुछ ज़िले ऐसे हैं जहां संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। हमें और सतर्क रहने की जरूरत है और लोगों को भी लगातार सतर्क करते रहना पड़ेगा। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए हमें माइक्रो स्तर पर और सख़्त कदम उठाने होंगे।

इन राज्यों के मुख्यमंत्रियों से प्रधानमंत्री ने की मीटिंग
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्वोत्तर के राज्यों असम, नगालैंड, त्रिपुरा, सिक्किम, मणिपुर, मेघालय, अरूणाचल प्रदेश, मिजोरम के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बात की।