अगर आपको आप भी खर्राटे लेने की आदत, तो अपनाएं ये आसान सा उपाय

सोते समय खर्राटे आना आम समस्‍या है. इसमें सोते समय ब्रीदिंग की समस्‍या होती है. आप जैसे ही नींद में जाते हैं, आपके मुंह और नाक की हवा का प्रवाह आंशिक रूप से बाधित होने लगता है और अजीब सी आवाज होने लगती है. हालांकि खर्राटे (Snoring) लेने वाले को भले ही इसके बारे में पता ना चलता हो लेकिन उसके साथ सोने वाले की तो नींद पूरी तरह ही खराब हो जाती है. आपको पता होना चाहिए कि सोते वक्त खर्राटे लेना नेचुरल नहीं है.

यह अगर बहुत बढ़ गई या इसे ज्‍यादा दिनों तक इग्‍नोर किया गया तो यह खतरनाक भी हो सकता है. ऐसे में खर्राटे लेने वाले को तुरंत डॉक्टर से इस बारे में डिस्‍कस करना चाहिए. खर्राटे का सीधा संबंध आपके हार्ट से होता है जो आगे चलकर दिल से जुड़ी कई बीमारियों की वजह भी बन सकता है. लेकिन अगर यह अपने प्रारंभिक रूप में है तो कुछ घरेलू नुस्‍खों को अपनाकर इसे दूर किया जा सकता है. आइए जानते हैं क्‍या हैं ये उपाय.

वजन कम करना है जरूरी
खर्राटे की वजह आमतौर पर गंभीर नहीं होती है जिसे आप लाइफस्टाइल में हल्के बदलाव लाकर खत्‍म कर सकते हैं. अधिक वजन होना खर्राटे के कई कारणों में से एक हो सकता है. अधिक वजन वाले लोगों में खर्राटे लेने की सबसे अधिक संभावना होती है. अगर आप अपने जीवन में हेल्‍दी फूड के साथ साथ नियमित रूप से वर्कआउट को शामिल करते हैं तो इससे वजन कम होगा और खर्राटों को रोकने में मदद मिलेगी.

अदरक और शहद की चाय

अदरक एक एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल एजेंट के रूप में काम करता है जो खर्राटे से राहत दिलाता है. यह एक आम घरेलू सुपरफूड है जो कई हेल्‍थ समस्‍या जैसे अपच और खांसी जुकाम तक का इलाज कर सकती है. अगर आप खर्राटे की समस्या से जूझ रहे हैं तो इससे छुटकारा पाने के लिए दिन में दो बार अदरक और शहद की चाय पीएं. यह बेहद फायदेमंद होगा.

अनानास, केला और संतरा का करें सेवन
अगर आपकी नींद की क्‍वालिटी सुधर जाए तो खर्राटों से छुटकारा पाया जा सकता है. एक अच्‍छी नींद शरीर में मेलाटोनिन की मात्रा को बढ़ाती है. मेलाटोनिन दरअसल एक हार्मोन है जो हमें नींद देता है. ऐसे में आप उन खाद्य पदार्थों का सेवन करें जिनमें उच्च मात्रा में मेलाटोनिन हो. अनानास, केले और संतरे में यह भरपूर मात्रा में होता है. इनके सेवन से खर्राटों को रोका जा सकता है.

Special for You