अगर आपकी भी खुल जाती है सुबह 3 बजे नींद तो कहीं ये बीमारी तो नहीं?

रात में आप अक्सर किसी न किसी वजह से जग जाते है, जैसे आपको प्यास लगती है, टॉयलेट आना या किसी शोर की वजह से आपकी आंख खुल जाना। इस सबके बाद आप चादर तान कर आसानी से सो जाते हैं, लेकिन डायबिटीज पेशेंट्स (Diabetic Patients) के साथ ऐसा नहीं है। अधिकतर मरीजों की आंख तीन बजे (3 am) खुल जाती है, इसके बाद वो ठीक से सो नहीं पाते हैं। ऐसा उनके साथ इसलिए होता है क्योंकि उनके ब्लड शुगर (Blood Sugar) का लेवल अचानक बढ़ जाता है और उनकी नींद टूट जाती है। आइए जानते हैं कि सुबह तड़के 3 बजे ऐसा क्यों होता है।

जानकारी के मुताबिक, शरीर को एनर्जी पैदा करने के लिए ग्लूकोज की जरुरत होती है और सुबह उठने के लिए आपको ज्यादा एनर्जी चाहिए होती है, ऐसे में बॉडी को अगले दिन की तैयारी के लिए जो शरीर में जो ग्लूकोज होता है, उसका इस्तेमाल करना शुरू कर देती है। वहीं ग्रोथ हार्मोन, कोर्टिसोल और कैटेकोलामाइन की वजह से लीवर ब्लड स्ट्रीम (bloodstream) में एक्सट्रा ग्लूकोज छोड़ने लगता है। यह प्रकिया शरीर में सुबह 2 से 3 बजे के आस-पास होती है, ताकि शरीर को दिन के लिए जागने के लिए तैयार किया जा सके। वहीं डायबिटीज की पेशंट्स की दवा की खुराक का असर खत्म होने लगता है। इसकी वजह से उनका ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है और उनकी आंख खुल जाती है।

सोमोगी इफेक्ट
ब्लड शुगर लेवल बढ़ने का दूसरा कारण सोमोगी इफेक्ट भी हो सकता है। इसे रिबाउंड हाइपरग्लेसेमिया भी कहा जाता है। यह तब होता है जब आपके ब्लड शुगर का लेवल रात के मध्य में बहुत कम हो जाता है और आपको ज्यादा ला ब्लड शुगर लेवल को दूर करने के लिए शरीर हार्मोन्स जारी करता है, इससे लीवर शरीर में ग्लूकोज की मात्रा को स्थिर करने के लिए जो ग्लूकोज स्टोर होता है, उसे छोड़ने के लिए मजबूर करता है। लेकिन, डायबिटिज पेंशेंट्स के मामले में, लीवर कुछ एक्स्ट्रा ग्लूकोज छोड़ता है, जिससे सुबह ब्लड शुगर हाई होता है।

किन बातों का रखना चाहिए ध्यान

-डायबिटीज पेशेंट्स दवाओं का समय या टाइप बदलना चाहिए

-हल्का नाश्ता लेना चाहिए

-सुबह के समय अपनी दवा की खुराक बढ़ानाV